Ranji Trophy Final: 160-run target Would be gettable in this pitch, says Harvik Desai
bat ball

सौराष्ट्र की टीम ने नॉकआउट चरण के मैचों में लक्ष्य का पीछा शानदार तरीके से किया लेकिन रणजी ट्रॉफी फाइनल का दबाव अलग तरह का होगा जिसे देखते हुए टीम के सलामी बल्लेबाज हार्विक देसाई का मानना है कि इस धीमी पिच पर 160 रन के लक्ष्य को हासिल किया जा सकता है।

सौराष्ट्र ने उत्तर प्रदेश के खिलाफ क्वार्टरफाइनल में 372 और सेमीफाइनल में कर्नाटक के खिलाफ 279 रन के लक्ष्य का सफलता पूर्वक पीछा किया। विदर्भ की टीम तीसरे दिन के खेल के बाद 60 रन से आगे है और उसके आठ विकेट बचे हुए हैं। देसाई ने कहा कि अगर टीम को अपना पहला रणजी ट्रॉफी खिताब जीतना है तो उसे विरोधी टीम को जल्द आउट करना होगा।

पढ़ें: कैनबरा टेस्ट: श्रीलंका को 366 रनों से हराकर ऑस्ट्रेलिया ने 2-0 से सीरीज पर कब्जा किया

देसाई ने कहा, ‘‘पिच धीमी और स्पिन के अनुकूल है। 150-160 के आस-पास के लक्ष्य को हासिल किया जा सकता है। हां, हमने पहले इससे बड़े लक्ष्य हासिल किये हैं लेकिन ऐसी पिच के कारण यह बिल्कुल अलग होगा। इस पिच पर रन बनाना मुश्किल है।’’

उन्होंने कहा कि कप्तान जयदेव उनादकट और चेतन सकारिया ने अंतिम विकेट के लिए 60 रन जोड़े जिसके बाद ड्रेसिंग रूम में खुशी का माहौल था। उनकी साझेदारी के कारण सौराष्ट्र की टीम पहली पारी में विदर्भ से सिर्फ पांच रन पीछे रह गयी।

पढ़ें: जेसन होल्डर, कीमार रोच की शानदार गेंदबाजी के दम पर वेस्टइंडीज ने एंटीगुआ टेस्ट जीता

विदर्भ के स्पिनर अक्षय वखारे ने भी माना कि उनकी टीम बड़ी बढ़त हासिल करने से चूक गयी। उन्होंने कहा, ‘‘हम बड़ी बढ़त हासिल कर सकते थे लेकिन जयदेव (उनादकट) ने शानदार खेल दिखाया। हम सकारिया के खिलाफ ज्यादा आक्रामक थे लेकिन वह भी क्रीज पर टिक गए। उन्‍हें ज्यादा देर तक बल्लेबाजी की अहमियत के बारे में पता था।’’

उन्होंने कहा, ‘‘पिच से ज्यादा मदद नहीं मिल रही थी। गेंद काफी धीमा और काफी नीचे आ रहा था। मैच अभी बराबरी पर है।’’