Rohit Sharma: Onus lies on me, Shikhar Dhawan and Virat Kohli
रोहित शर्मा, विराट कोहली © AFP

विश्व कप के लिए इंग्लैंड पहुंचे भारतीय स्क्वाड के मध्य बल्लेबाजी क्रम को लेकर अब भी कई सवाल खड़े हो रहे हैं। टीम इंडिया के इस 15 सदस्यीय स्क्वाड में किसी भी खिलाड़ी को चार नंबर का स्थाई बल्लेबाज नहीं है। वहीं मध्य क्रम के बल्लेबाज केदार जाधव पूरी तरह फिट नहीं हैं और विजय शंकर जैसे युवा खिलाड़ी पर भरोसा नहीं किया जा सकता है। ऐसे में टीम इंडिया की बल्लेबाजी की जिम्मेदारी टॉप 3 यानि कि कप्तान विराट कोहली, रोहित शर्मा और शिखर धवन पर है। उप कप्तान रोहित का भी यही मानना है।

टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए इंटरव्यू में रोहित ने कहा, “मुझे लगता है कि हमारे पास वो चीज है जिसकी जरूरत पड़ेगी। अगर मैं इस तरह से कहूं तो- टीम का भार टॉप 3 यानि कि मेरे, शिखर और विराट के बीच है। हमारी कोशिश होगी कि जितना हो सके लगातार अच्छा प्रदर्शन करते रहें। ऐसा नहीं होना चाहिए कि कल मैंने रन बनाया तो आज तू बना। जिम्मेदारी हमारे ऊपर है।”

बतौर बल्लेबाज ही नहीं बल्कि उप कप्तान के तौर पर टीम के लीडरशिप ग्रुप में भी रोहित की बड़ी भूमिका होगी। इंग्लैंड रवाना होने से पहले हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कप्तान कोहली और कोच रवि शास्त्री ने कहा था कि रोहित और महेंद्र सिंह धोनी टीम की रणनीति का हिस्सा हैं।

पाकिस्तान के खिलाड़ियों के साथ यात्रा नहीं करेंगी उनकी पत्नियां

इस पर रोहित ने कहा, “जैसा कि मैने कहा, मैं वहां पर अपनी भूमिका अदा करने को लेकर खुश हूं। टीम के हित में जो भी वो मेरी प्राथमिकता होगी। मुझसे जो भी कहा जाएगा, मैं वो करने के लिए तैयार हूं।”

इंग्लैंड में होने वाले विश्व कप में जसप्रीत बुमराह और हार्दिक पांड्या टीम इंडिया के प्रमुख खिलाड़ी रहेंगे। ये दोनों ही खिलाड़ी हाल ही में रोहित शर्मा की कप्तानी में चौथा आईपीएल खिताब जीते हैं। आईपीएल के दौरान बुमराह और पांड्या के वर्कलोड और फिटनेस पर कड़ी नजर रखी जा रही है। हालांकि रोहित ने साफ कही कि दोनों खिलाड़ी विश्व कप के लिए पूरी तरह तैयार हैं।

कपिल देव को भरोसा विश्व कप सेमीफाइनल में पहुंचेगी भारतीय टीम

भारतीय उप कप्तान ने कहा, “दोनों ही अपने पहले विश्व कप के लिए तैयार हैं। दोनों ही सकारात्मक सोच वाले क्रिकेटर हैं। उन्हें चुनौतिया पसंद हैं। साथ ही पिछले कुछ महीनों में उन्होंने जिस तरह का प्रदर्शन किया है, वो भी इससे मेल खाता है। दोनों की जो सबसे अच्छी बात वो ये कि वो हमेशा सुधार करने के लिए तैयार रहते हैं, एक्शन के बीच में रहना चाहते हैं। हार्दिक ने आईपीएल में कई अहम पारियां खेली। वो ऐसा खिलाड़ी है जो हमेशा ही टीम के लिए योगदान करने को तैयार रहता है।”