सचिन तेंदुलकर विंबलडन में  © Getty Images
सचिन तेंदुलकर विंबलडन में © Getty Images

जैसा कि टेनिस स्टार रोजर फेडरर इस साल विंबलडन में अपने रिकॉर्ड आठवें खिताब पर नजर गड़ाए हुए हैं। ऐसे में पूर्व भारतीय क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर अपने दोस्त फेडरर का समर्थन करने के लिए विंबलडन पहुंच गए हैं। विंबलडन चैनल से बातचीत करते हुए सचिन ने कहा, “मैं रोजर को पिछले 10 साल से खेलते हुए देख रहा हूं। मैं यहां उनको सपोर्ट करने को आया हूं। वह जमीन से जुड़े हुए विनम्र आदमी हैं।” सचिन तेंदुलकर जो पू्र्व वर्ल्ड चैंपियन रोडर फेडरर के करीबी दोस्त हैं, वह पहले भी रोजर के मैचों को देखने के लिए आते रहे हैं।

दोनों पहली बार साल 2011 में मिले थे और तबसे ही दोनों एक दूसरे के साथ दोस्ती का करीबी रिश्ता रखते हैं। यह बात जगजाहिर है कि दोनों खिलाड़ी एक दूसरे के मुरीद हैं। जब रोजर फेडरर भारत आए थे तो उन्होंने व्यक्तिगत तौर पर सचिन तेंदुलकर को राफेल नडाल के साथ अपने टीएनपीएल मैच को देखने के लिए नई दिल्ली में बुलाया था।

उस समय फेडरर ने कहा था, “सचिन तेंदुलकर उन भारतीय खिलाड़ियों में हैं जिनकी वह सबसे ज्यादा तारीफ करते हैं। मैं उनसे मिला था जब वह विंबलडन में आए थे। उनसे बातचीत करके बड़ा मजा आया था- वह एक लीजेंड हैं। जब भी मैं वीडियो गेम खेलता हूं, मैं हमेशा सचिन को बल्लेबाज के तौर पर लेता हूं।”

[ये भी पढ़ें: रवि शास्त्री को कोच चुनने के बाद सौरव गांगुली, सचिन तेंदुलकर और वीवीएस लक्ष्मण पर उठे सवाल]

 

साल के इस महीने में हर साल सचिन लंदन में कुछ समय जरूर बिताते हैं। वह इस दौरान विंबलडन मे रोजर फेडरर और राफेल नडाल को एक्शन में देखते हैं। इस साल विंबलडन को देखने के लिए आने वाले सचिन तेंदुलकर पहले खिलाड़ी नहीं हैं। पूर्व इंग्लैंड के कप्तान एलिस्टेयर कुक भी विंबलडन के मैच के दौरान उपस्थित रहते हैं।