शार्दुल ठाकुर  © IANS
शार्दुल ठाकुर © IANS

श्रीलंका के खिलाफ वनडे क्रिकेट में डेब्यू करने वाले शार्दुल ठाकुर प्रभावशाली दिखाई दिए। ठाकुर ने मैच में 7 ओवरों में 26 रन देकर 1 विकेट झटका। उन्होंने मैच का पहला विकेट निरोशन डिकवेला को एमएस धोनी के हाथों झिलवाकर लिया। वह पिछले दिनों से खबरों में हैं लेकिन मैदान में प्रदर्शन को लेकर नहीं बल्कि नंबर 10 जर्सी को लेकर। वह इस जर्सी के साथ मैदान पर उतरे थे, गौरतलब है कि सचिन तेंदुलकर की जर्सी का नंबर भी 10 हुआ करता था। वैसे कई क्रिकेट फैंस को शार्दुल के द्वारा 10 नंबरी जर्सी पहनना अच्छा नहीं लगा उन्होंने सोशल मीडिया पर उनपर खूब फब्तियां कसीं।

सचिन तेंदुलकर की दुनियाभर में खूब फैन फालोइंग है और बहुत से फैंस के इमोशन उनसे जुड़े हुए हैं। क्योंकि उन्होंने टीम इंडिया की जिम्मेदार को अपने कंधों पर संभाला है। यही कारण रहा कि जब फैंस ने शार्दुल को नंबर 10 जर्सी पहने देखा तो वह अपनी भावनाओं को बहने से रोक नहीं पाए। वैसे भारतीय स्पिनर और सचिन के करीबी दोस्त हरभजन सिंह अब शार्दुल के समर्थन में उतरे हैं और कहा कि 10 नंबर जर्सी पहनने के लिए उनकी आलोचना नहीं की जानी चाहिए।

हरभजन सिंह ने टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत में कहा, “उस बेचारे की क्या गलती है अगर उसने वह जर्सी पहन ली? अगर वह सचिन को देखते हुए बड़ा हुआ है तो हो सकता है कि उसका सपना रहा हो कि वह नंबर 10 की जर्सी पहनते हुए टीम इंडिया के लिए खेले, जिसके लिए उसने कड़ी मेहनत की है। इस तरह से उसके द्वारा अपनी ओर से सचिन को श्रृ्द्धांजलि अर्पित करना भी हो सकता है, यह उसका लकी नंबर भी हो सकता है।”

[ये भी पढ़ें: सुरेश रैना ने कहा, मेरा समय आएगा]

हरभजन ने अंत में कहा, “हर किसी का अपना इमोशन होता है। हम सभी सचिन पाजी की इज्जत करते हैं। जबतक वह खेले किसी ने वह जर्सी नहीं पहनी। वह जर्सी हमेशा हमारे दिमाग में जीवंत रहेगी। कोई और पहन रहा है तो इसको लेकर उसका सम्मान नहीं जाएगा। बोर्ड को इस बारे में निर्णय लेना चाहिए कि वह जर्सी नंबर को संभालकर रखना चाहते हैं, और सचिन को समर्पित करना चाहते हैं। अगर ऐसा होना होता तो वह तभी हो जाता जब सचिन ने साल 2013 में संन्यास लिया था। अगर आप सचिन से पूछें तो उन्हें भी किस अन्य के द्वारा वह जर्सी पहनने पर कोई समस्या नहीं होगी।”