Steven Smith, David Warner should come back in 2019 to help us win the World Cup, says Justin Langer
David Warner, Steven Smith (Getty Images)

ऑस्ट्रेलिया टीम के नए कोच जस्टिन लैंगर को उम्मीद है कि बैन खिलाड़ी स्टीवन स्मिथ, डेविड वार्नर और कैमरून बैनक्रॉफ्ट 2019 तक टीम में वापसी कर लेंगे। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने बॉल टैंपरिग मामले में स्मिथ, वार्नर पर एक साल और बैनक्रॉफ्ट पर 9 महीने का बैन लगाया है।

कोच लैंगर ने ऑस्ट्रेलिया टीम के कल्चर और माहौल के बारे में बात करते हुए कहा, “अगर हमारा माहौल सही है और वो अच्छा खेल रहे हैं तो ऐसा कोई कारण नहीं है जो उन्हें टीम में आकर हमे 2019 विश्व कप और एशेज सीरीज जीतने में मदद करने से रोक सके। अगर हम दिग्गज युवा खिलाड़ियों के नेतृत्व का माहौल तैयार कर सकते हैं और इन खिलाड़ियों का स्वागत कर पाते हैं तो हम एक मजबूत ताकत बन सकते हैं और शायद ऐसी टीम जो पहले से ज्यादा मुस्कुराती हो।”

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से दूर तीनों ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर दुनिया भर की टी20 लीगों में हिस्सा ले रहे हैं। वार्नर और स्मिथ हाल ही में कनाडा की ग्लोबल टी20 लीग में खेलते नजर आए। वहीं बैनक्रॉफ्ट ने नॉर्दन टेरिटरी स्ट्राइक लीग में हिस्सा लिया। कनाडा लीग से लौटने के बाद वार्नर ने भी एनटी स्ट्राइक लीग के कुछ मैच खेले थे। वहीं स्मिथ कल बैन के बाद ऑस्ट्रेलिया की जमीन पर अपना पहला मैच सदरलैंड क्लब के लिए खेलने जा रहे हैं।

स्मिथ के बारे में बात करते हुए लैंगर ने कहा, “मैं जितने लोगों से अपनी जिंदगी में मिला हूं, स्टीव स्मिथ उनमें से सबसे अच्छा शख्स है। वो एक आक्रामक युवा लड़का है औ क्या खिलाड़ी है। अपनी बल्लेबाजी के प्रति इतना ज्यादा समर्पित है।”

लैंगर ने आगे कहा, “कैमरून भी पेशेवर खिलाड़ी है। वो वेस्टर्न ऑस्ट्रेलिया के दिल की धड़कन था। डैरन लेहमेन से बात करने के बाद लगा, वो ऑस्ट्रेलिया टीम के दिल की धड़कन भी था। वो इतना ताकतवर है, वो ऑस्ट्रेलिया के लिए खेलने के लिए कुछ भी कर सकता है। वो ऐसा चरित्र है जिसे आप टीम के आसपास रखना चाहेंगे।”

पूर्व ऑस्ट्रेलियाई उप कप्तान डेविड वार्नर के बारे में लैंगर ने कहा, “डेवी ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट का मैराथॉन खिलाड़ी है, लोग इस बात को याद नहीं करते हैं। उसने क्रिकेट का हर मैच खेला है। उसने टेस्ट, वनडे, टी20, आईपीएल पूरे साल क्रिकेट खेला है। आखिरकर ऑस्ट्रेलिया टीम टी20 में अच्छा कर रही थी और उसे इसका लीडर माना जा रहा था।”