Syed Kirmani wants Rishabh Pant to work on his wicketkeeping
Rishabh pant © Getty Images

भारतीय टीम के पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज सैयद किरमानी युवा रिषभ पंत की बल्लेबाजी से काफी प्रभावित हैं। न्यू इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में इस पूर्व क्रिकेटर ने कहा, “पंती की बल्लेबाजी का रवैया देखने में काफी नया लगता है। उसे अपने खेलने का तरीका नहीं बदलना चाहिए, इससे परेशानी हो सकती है। हालांकि उसे पारी को बड़े स्कोर में बदलने की कला सीखने की जरूरत है। इसका सबसे बड़ा उदाहण विराट कोहली है। जब वो सेट हो जाता है तो वो शतक तक पहुंचता है। इतनी मेहनत करने के बाद आपको शतक से चूकना नहीं चाहिए।”

पंत ने राजकोट टेस्ट में 84 गेंदो पर 92 रनों की पारी खेली थी लेकिन शतक तक पहुंचने में नाकाम रहे थे। किरमानी ने पंत की तुलना महेंद्र सिंह धोनी से करते हुए कहा, “वो मुझे महेंद्र सिंह धोनी के शुरुआती दिनों की याद दिलाता है। वो गेंद को शानदार तरीके से हिट करता था लेकिन स्टंप्स के पीछे तकनीकि तौर पर मजबूत नहीं था। उसने अपनी कमियों पर काम किया और देखें कि कहां पहुंच गया। पंत के पास समय है लेकिन सबसे पहले उसे लगातार रन बनाते रहना है। ये अपने आप को टीम से बाहर ना होने देने का सबसे अच्छा तरीका है।”

किरमानी भी मानते हैं कि पंत की विकेटकीपिंग अभी कमजोर है। राजकोट टेस्ट में रविचंद्रन अश्विन के ओवरों में विकेटकीपिंग करते समय पंत का ये कमजोर पक्ष साफ दिखा। पूर्व दिग्गज ने कहा, “स्टंप्स के पीछे पंत का फुटवर्क अच्छा नहीं है। वो गेंद के साथ नहीं चलता, बल्कि आखिरी समय पर छलांग लगाने की सोचता है। इसमें समय लगेगा।”

केवल पंत ही नहीं किरमानी ने मौजूदा भारतीय युवा विकेटकीपर बल्लेबाजों की स्थिति पर चिंता जताई। उन्होंने कहा, “मेरा सबसे अहम मुद्दा ये है कि आप हमारे देश के युवा विकेटकीपरों को देखें। वो कैसे सीखेंगे? आपके पास हर चीज के कोच हैं लेकिन ऐसे स्पेशलिस्ट रोल के लिए कोई कोच नहीं है। कई युवा प्रतिभाएं हैं लेकिन सभी पहले बल्लेबाज हैं। महेंद्र सिंह धोनी, दिनेश कार्तिक और पार्थिव पटेल जैसे अनुभवी खिलाड़ियों ने समय के साथ अपनी विकेटकीपिंग को बेहतर बनाया है। उम्मीद है कि युवा खिलाड़ी भी उनसे सीख लें और विकेट के पीछे बेहतर बनें।”