The Ashes 2019: Justin Langer says Australia’s squad far from settled
Justin Langer (File Photo) © Getty Images

एशेज सीरीज से पहले ऑस्‍ट्रेलिया की टीम मंगलवार को चार दिवसीय वार्म अप मैच खेलने जा रही है, लेकिन कोच जस्टिन लैंगर इस बड़े टूर्नामेंट के लिए अब तक स्‍क्‍वाड नहीं चुन पाए हैं।

जस्टिन लैंगर ने कहा, “मुझे लगता है कि हमारे पास कुछ अच्‍छे बल्‍लेबाजाें और गेंदबाजाें का मिश्रण है। टीम में एक्‍सट्रा स्पिन गेंदबाज को रखने को लेकर हम काफी चर्चा कर चुके हैं। साथ ही एक्‍सट्रा विकेटकीपर रखने को लेकर भी काफी चर्चा हुई है। निश्चित तौर पर लड़कों को टीम में अच्‍छे मौके मिलेंगे।”

पढ़ें:- आज से खेले जाएंगे टी20 विश्‍वकप 2020 के क्‍वालीफायर मुकाबले

ऑस्‍ट्रेलिया के पास इस वक्‍त इंग्‍लैंड में 25 खिलाड़ियों को पूल मौजूद है। चयनकर्ताओं को इनमें से 16 खिलाड़ियों का चयन करना है। लैंगर की माने तो टीम में तीन-चार ऐसी जगह हैं जो चिंता का विषय हैं। इनमें से एक है कि किस तरह से स्‍टीवन स्मिथ, डेविड वार्नर आर कैमरून बैनक्रॉफ्ट को टीम में जगह दी जाए। प्रतिबंध की अवधि के दौरान टेस्‍ट टीम में उस्‍मान ख्‍वाजा, पीटर हैड्सकॉम्‍ब, मार्कस हैरिस, ट्रेविस हैड, मार्नस लाबुशेन और कुर्टिस पैटरसन जैसे खिलाड़ियों को मौका मिला।

लैंगर ने कहा, “वर्ल्‍ड कप स्‍क्‍वाड में स्‍टीवन स्मिथ को पीटर हैंड्सकॉम्‍ब की जगह स्‍थान दिया गया था। अगर टेस्‍ट में भी ऐसा ही किया जाता है तो ये उनके खिलाफ काफी सख्‍त रुख अपनाने जैसा होगा। उन्‍होंने अच्‍छा क्रिकेट खेला है।”

पढ़ें:- जेम्स एंडरसन को भरोसा, टेस्ट में सफल हो सकते हैं जोफ्रा आर्चर

उन्‍होंने कहा, “अगर किसी खिलाड़ी को टेस्‍ट शतक लगाने के बाद भी बाहर बैठना पड़े तो ये हमारे लिए बुरी चीज नहीं हैं। हमारे पास बैकअप में एक ऐसा खिलाड़ी होगा जो शतक लगा चुका है। हमें ऑस्‍ट्रेलिया के क्रिकेट पर गर्व है। हम उम्‍मीद करते हैं कि आगे भी ऐसा होता रहे।”

वर्ल्‍ड कप के दौरान चोटिल हुए उस्‍मान ख्‍वाजा पर लैंगर ने कहा कि वो समय से जंग लड़ रहे हैं, देखते हैं कि वो एजबेस्‍टन में होने वाले पहले एशेज मैच तक हैमस्ट्रिंग इंजरी से पूरी तरह से ठीक हो पाते हैं या नहीं। हम इंतजार करेंगे और देखेंगे कि क्‍या होता है।

दो विकेटकीपर रखने पर लैंगर ने कहा एलेक्‍स कैरी और मैथ्‍यू वेड ने टीम में जगह बनाने के लिए सब कुछ किया है। वेड ने हाल ही में ऑस्‍ट्रेलिया ए की तरफ से खेलते हुए तीन शतक लगाए। उन्‍हें छह-सात बार बल्‍लेबाजी का मौका मिला।