शिखर धवन अब तक हुए दो मैचों में बल्ले से कमाल नहीं दिखा सके हैं © Getty Images
शिखर धवन अब तक हुए दो मैचों में बल्ले से कमाल नहीं दिखा सके हैं © Getty Images

भारत के स्टार सलामी बल्लेबाज शिखर धवन बल्ले से भले ही संघर्ष कर रहे हो लेकिन उनके बेटे जोरावर को अपनी पहली कविता गाने के लिए कोई संघर्ष नहीं करना पड़ा और दो साल के जोरावर ने अपने पापा के लिए ‘जॉनी जॉनी यस पापा’ एक बार में सुना दी। शिखर धवन ने अपने बेटे कविता गाते हुए अपने बेटे की वीडियो अपने ट्विटर पेज पर शेयर की है। धवन ने ये वीडियो शेयर करते हुए लिखा है कि अपनी पहली कविता गाते हुए मेरा बेटा, मेरी जिंदगी का खूबसूरत लम्हा, मुझे खुश कर दिया। शिखर धवन की पत्नी आएशा मुखर्जी हैं। शिखर धवन तीन बच्चों के पिता हैं, दो बेटियों के नाम आलिया और रिया है जबकि बेटे का नाम जोरावर है। ALSO READ: भारतीय टीम की जीत पर धोनी के साथ नजर आए सुशांत

इस वीडियो में जोरावर अपने मुंह में टॉफी लिये हुए है और अपनी पहली कविता अपनी मां को सुना रहा है। कविता की कुछ लाइन पढ़कर आएशा सुनाती है तो जोरावर आगे की लाइन बोलता है। जोरावर इस कविता में मशहूर कविता जॉनी जॉनी यस पापा सुनाता है। इस वीडियो में जोरावर बहुत ही क्यूट लग रहा है। जोरावर के इस वीडियो को अब तक 1,700 लोग लाइक कर चुके है जबकि साढ़े तीन सौ से ज्यादा लोगों ने इसे रिट्वीट किया है।

शिखर धवन इस समय बांग्लादेश के खिलाफ होने वाले मुकाबले की तैयारियों में लगे हुए हैं। न्यूजीलैंड और पाकिस्तान के खिलाफ उनके बल्ले से रन नहीं निकले हैं। न्यूजीलैंड के खिलाफ वो सिर्फ 1 रन बना सके थे तो पाकिस्तान के खिलाफ उनके बल्ले से सिर्फ 6 रन निकले। भारतीय टीम को उम्मीद है कि बांग्लादेश को होने वाले मुकाबले में वो अपनी फॉर्म हासिल कर लेगें।