Virat Kohli speaks about future of Test cricket
India captain Virat Kohli speaks to the media @Getty Images

भारतीय कप्तान विराट कोहली का मानना है कि टेस्ट क्रिकेट के मौजूदा स्वरूप से छेड़छाड़ नहीं करना चाहिए। वह नहीं चाहते थे कि इसे पांच के बजाय चार दिन का कर दिया जाए। आईसीसी क्रिकेट के इस पारंपरिक प्रारूप को बढ़ावा देने के लिए इसमें कुछ बदलाव करना चाहती है।

कोहली ने ‘विजडन’ से कहा, ‘‘जब आप टेस्ट क्रिकेट में अच्छा प्रदर्शन करते हो तो आपको जो संतुष्टि मिलती है उसे शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता है क्योंकि आप जानते हो कि यह कितना चुनौतीपूर्ण है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘यह खेल का सबसे खूबसूरत प्रारूप है। मैं नहीं चाहता कि इसे चार दिन का कर दिया जाए।’’

कोहली से पूछा गया कि क्या उन्हें वह प्रस्तावित चार दिवसीय टेस्ट मैचों को पीछे हटने वाले कदम के रूप में मानते हैं, उन्होंने कहा,‘‘निश्चित तौर। इसके साथ छेड़छाड़ नहीं की जानी चाहिए।’’

विश्व भर में टी20 लीग की बढ़ती संख्या से पांच दिवसीय प्रारूप पर खतरा मंडरा रहा है। यहां तक कि वनडे पर भी अस्तित्व का खतरा मंडरा रहा है। कोहली ने कहा, ‘‘कुछ देशों में ऐसी स्थिति है। यह खेल को देखने वाले लोगों की जागरूकता पर निर्भर करता है। अगर आप दक्षिण अफ्रीका या ऑस्ट्रेलिया या इंग्लैंड की बात करो तो वहां टेस्ट मैचों में बड़ी संख्या में दर्शक पहुंचते हैं क्योंकि वहां के लोग खेल को समझते हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘मेरा मानना है कि अगर आप वास्तव में खेल को समझते हो, अगर आप वास्तव में खेल को चाहते हो तो आप टेस्ट क्रिकेट को समझते हो और आप जानते हो कि यह कितना रोमांचक है। जब आप टेस्ट क्रिकेट में अच्छा प्रदर्शन करते हो तो आपको जो संतुष्टि मिलती है उसे शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता है क्योंकि आप जानते हो कि यह कितना चुनौतीपूर्ण है।’’

(पीटीआई न्यूज)