West Indies vs England, 2nd Test: I’ve worked on my defensive game a bit more, says Jonny Bairstow
Jonny Bairstow will return to the middle order in the Ashes. © Getty Images

वेस्टइंडीज के खिलाफ एंटीगुआ में खेले जा रहे दूसरे टेस्ट मैच में इंग्लैंड बल्लेबाज एक बार फिर कीमार रोच और शेनन गेब्रिएल के सामने जूझते नजर आए। कप्तान जो रूट समेत बेन स्टोक्स, जोस बटलर, रोरी बर्न्स और डेब्यू कर रहे जो डेन्ली भी सस्ते में आउट हो गए। ऐसे में विकेटकीपर बल्लेबाज जॉनी बेयरस्टो ने अर्धशतकीय पारी खेली और इंग्लैंड को 187 के स्कोर तक पहुंचाया।

ये भी पढ़ें: विंडीज महिलाओं ने पाक के 100वें टी20 मैच के जश्न के रंग में भंग डाला

अपनी बल्लेबाजी के बारे में बात करते हुए बेयरस्टो ने कहा, “पहले मैं हर गेंद पर तेज खेलने की कोशिश करता था लेकिन अब मैंने अपने डिफेंस पर काम किया है। मेरा मानना है कि सारी चीजें आप किस नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरे रहे हैं, इसी पर निर्भर करती हैं। जब मैं 6 या 7 नंबर पर आता हूं तो गेंद पुरानी होती है और गेंदबाज भी 10-12 ओवर करा चुके होते हैं। लेकिन जब मैं तीन नंबर पर आता हूं तो गेंद नई होती है और गेंदबाज भी अपने पहले स्पेल में होते हैं। वो तरोताजा होते हैं और पिच भी ताजा होती है, इसलिए आपको इसका ध्यान रखना होता है कि गेंद क्या हरकत कर रही है और हालात कैसे हैं।”

ये भी पढ़ें: एंटीगुआ टेस्ट: कीमार रोच, शेनन गेब्रिएल के सामने 187 पर ढेर हुआ इंग्लैंड

बेयरस्टो और मोइन अली की अर्धशतकीय पारियों के बावजूद इंग्लैंड टीम 187 पर ऑलआउट हो गई। इस पर इंग्लिश बल्लेबाज ने कहा, “ये मुश्किल था। मुझे नहीं लगता कि आपको कभी भी लगा कि आप पूरी तरह सेट हैं। आपको पता होता है कि एक गेंद ज्यादा उछलेगी या नीची रहेगी, खासकर जब उनके गेंदबाज 6 फुट के हैं। उन्होंने हमें ऐसी पिच पर निर्णय लेने को कहा, जो गेंदबाजों के अनुकूल थी, निश्चित रूप से पहले कुछ सेशन में। अगर आप पिच की तरफ देखें, तो उस पर दो अलग तरह की घास है। जहां से गेंद उछल रही थी, वहां या तो एक उभार था या घास के साथ कुछ था, लेकिन दुर्भाग्य से कई विकेट उन गेंदो पर आए, जिन पर उन्होंने हमें कुछ शॉट खेलने के लिए मजबूर किया।”

ये भी पढ़ें: 200 वनडे खेलने वाली पहली महिला क्रिकेटर बनीं मिताली राज

पहले दिन का खेल खत्म होने तक इंग्लैंज 157 रनों से आगे थी (विंडीज 30/0)। बेयरस्टो को उम्मीद है कि दूसरे दिन उनके गेंदबाज भी हालात का फायदा उठा सकेंगे। उन्होंने कहा, “कल का दिन दिलचस्प होगा। मुझे लगता कि हमने आज अच्छी गेंदबाजी की और ये दुर्भाग्य की बात है कि हमें सफलता नहीं मिली। लड़कों ने गेंद को सही एरिया में कराया और 21 ओवर बाद केवल 30 रन से उसका पता चलता है। गेंद बल्ले के पास से बहुत बार निकली, किसी और दिन हमें इस पर किनारा जरूर मिलता।”