Younis Khan: I approached Rahul Dravid for help during Champions Trophy 2004 in England
Younis Khan (File Photo) © Getty Images

पाकिस्‍तान के पूर्व खिलाड़ी यूनुस खान का कहना है कि उनके करियर को सवारने में राहुल द्रविड़ ने अहम भूमिका निभाई है। युनूस खान ने कहा, “राहुल द्रविड़ से साल 2004 में मैने बल्‍लेबाजी को लेकर मदद मांगी। उन्‍होंने मेरे कमरे में आकर मुझे समझाया, जिससे मुझे काफी फायदा हुआ।”

इंडिया टुडे के प्रोग्राम में युनुस खान को आमंत्रित किया गया था। उनके साथ भारतीय टीम के पूर्व कप्‍तान मोहम्‍मद अजहरुद्दीन भी मौजूद थे। इस दौरान इंग्‍लैंड में भारत काे 1-4 से मिली हार पर चर्चा चल रही थी।

मोहम्‍मद अजहरुद्दीन ने कहा, “टीम इंडिया को बल्‍लेबाजी के लीजेंड सुनील गावस्‍कर से इंग्‍लैंड दौरे के दौरान सीखना चाहिए था, लेकिन उन्‍होंने इस मौके को गंवा दिया। जैसे ही खिलाड़ी अपने अंदर अहम पालने लगते हैं तो चीजें बिगड़ने लगती हैं। मेरी नजर में सुनील गावस्‍कर भारत के महान बल्‍लेबाज हैं। गावस्‍कर खुद टीम के पास जाकर सुझाव नहीं देंगे। टीम को स्‍वयं ही उनके पास जाकर वहां खेलने के तौर तरीके सीखने चाहिए थे।”

यूनुस खान ने भी अजहरुद्दीन के सुर में सुर मिलाते हुए कहा कि हम भी अपने समय में मुश्किल वक्‍त में सीनियर्स से सलाह लेने में नहीं हिचकते थे। “साल 2004 में चैपियंस ट्रॉफी के दौरान इंग्‍लैंड में मैने राहुल द्रविड़ से बल्‍लेबाजी को लेकर सलाह ली थी। जिससे मुझे काफी फायदा हुआ। भारतीय बल्‍लेबाजों को क्रिकेट लीजेंड से सलाह लेनी चाहिए। उन्‍हें खुद आगे बढ़कर पूर्व खिलाड़ियों के पास जाना होगा।”

यूनुस खान ने कहा, “मैने राहुल द्रविड़ से पांच मिनट मांगे थे। मैं ये देखकर हैरान रह गया था कि वो मेरे कमरे में आए और मुझे समझाया। मैंने उनसे तकनीक को लेकर कई सवाल किए। मैने उनकी सलाह पर काम किया जिससे मुझे करियर में काफी फायदा हुआ।”