टीम इंडिया © © Getty Images
टीम इंडिया © © Getty Images

भारतीय टीम अपने सबसे मुश्किल दौरे के लिए ऑस्ट्रेलिया पहुंच चुकी है और इस दौरे के साथ ही साथ टीम के तीन मुख्य स्पिन गेंदबाजों को अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन भी करना होगा। आर अश्विन, रवींद जडेजा और अक्षर पटेल इनका चयन ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए हुआ है। इसके साथ ही साथ इस दौरे में टीम में शामिल स्पिनरों के बीच अपनी पैठ बनाने की दिलचस्प जंग होने वाली है। आने वाले आईसीसी वर्ल्ड T-20 को देखते हुए मुमकिन है कि ये तीनों मुकाबले में एक-दूसरे को पछाड़ने की कोशिश करते नजर आएं।
आइए जानते है इन तीनों स्पिनर के बारें में
अपने बेहतरीन स्पिन गेंदबाजी के दम पर पिछले कुछ सालों से आर अश्विन टीम इंडिया के स्टार स्पिनर रहे हैं। टेस्ट और वनडे दोनों में अपनी फिरकी के दम पर चयनकर्ताओं को क्लीन-बोल्ड किया है। 2015 अश्विन के लिए शानदार रहा और उन्हें आईसीसी द्वारा नंबर एक टेस्ट गेंदबाज भी चुना गया। अश्विन ने 9 टेस्ट में 62 विकेट लिए। कप्तान महेंद सिंह धोनी को अपने स्टार स्पिनर पर पूरा भरोसा है। कप्तान एमएस धोनी ने ऑस्ट्रेलिया जाने से पहले कहा, ‘अश्विन बाकी स्पिनरों से अलग हैं। वो हमेशा सकारात्मक सोच रखते हुए गेंदबाज़ी करते हैं। वापसी के बाद वो बदले हुए गेंदबाज़ नज़र आ रहे है और टीम के लिए एक मैच विनर खिलाड़ी हैं।’ ये भी पढ़ें: ऐसा क्या हुआ जब एक रिपोर्टर के सवाल से भड़के अफरीदी

बांग्लादेश और श्रीलंका दौरे को छोड़ दें, तो उनके नाम विदेश में खेले एक टेस्ट में 5 विकेट हैं। एक साल में 13 वनडे में 21 विकेट लेने वाले इस गेंदबाज को पिछले साल ऑस्ट्रॅलिया में दो वनडे में दो विकेट ही मिले।
अक्षर पटेल टीम में शामिल
भारतीय टीम में अक्षर पटेल को तीसरे स्पिनर के रूप में चुना गया हैं। आपको बता दें दक्षिण अफ़्रीका के खिलाफ खराब गेंदबाजी के लिए सुनील गावस्कर की आलोचना झेल चुके अक्षर ने घरेलू क्रिकेट में गेंद और बल्ले से अच्छा प्रदर्शन कर सबको प्रभावित किया है। रणजी ट्रॉफ़ी 5 मैचों में 330 रन बनाए और 20 विकेट भी झटके। कप्तान धोनी लंबे समय से टीम में एक ऑल-राउंडर की भूमिका पर ज़ोर देते रहे हैं…और फिलहाल अक्षर इसके लिए एकदम सही हैं। ये भी पढ़ें: बारिश ने तोड़ा ऑस्ट्रलियाई टीम का नंबर एक बनने का सपना
जडेजा पर होंगी सबकी निगाहें
अपने बेहतरीन प्रदर्शन से टीम इंडिया में ज़ोरदार वापसी करने वाले रवींद्र जडेजा के लिए ऑस्ट्रेलिया दौरा किसी चुनौती से कम नहीं है। आपको बता दें जडेजा ने पिछले एक साल में विदेशी धरती पर 10 वनडे में 9 विकेट लिए हैं।
धोनी का कहना है ‘भारतीय टीम में जडेजा और अक्षर दोनों टीम में हैं और ये दो स्पिन-ऑल-राउंडर हैं जो टीम में जगह बनाने की कोशिश कर रहे हैं। ये मुक़ाबला टीम के लिए फायदेमंद होगा। टीम को रन बनाने वाले गेंदबाज की जरूरत है। इसके बाद टीम इंडिया को एक ऑल-राउंडर मिलना तय है।