जो रूट और विराट कोहली ने टी20 विश्व कप में बल्ले से सबसे बेहतरीन प्रदर्शन किया© Getty Images, © AFP
जो रूट और विराट कोहली ने टी20 विश्व कप में बल्ले से सबसे बेहतरीन प्रदर्शन किया © Getty Images, © AFP

टी20 विश्व कप 2016 समाप्त हो चुका है क्रिकेट जगत को वेस्टइंडीज के रूप में नया विश्व चैंपियन मिल चुका है। लेकिन यह चर्चा अभी भी जारी है कि दुनिया का सबसे बेहतरीन बल्लेबाज कौन है। भारत के विराट कोहली और इंग्लैंड के जो रूट के बीच तुलना इस पूरे विश्व कप में होती रही। दोनों ही बल्लेबाजों ने अपनी-अपनी टीमों के लिए शानदार बल्लेबाजी करते हुए मैच जीताए। विराट ने भारत को अकेले दम पर सेमीफाइनल तक पहुंचाया तो रूट ने अपनी टीम के लिए फाइनल मुकाबले तक रन बनाए। लेकिन इन दोनों में बेहतर बल्लेबाज कौन है ये सवाल अभी भी खड़ा है। तो आइए इस टी20 विश्व कप में दोनों बल्लेबाजों के प्रदर्शन पर नजर डालते हैं और तुलना करते हैं। ALSO READ: टी20 विश्व कप 2016, फाइनल, वेस्टइंडीज बनाम इंग्लैंड का फुल स्कोरकार्ड

बात करें विराट कोहली की तो विराट ने इस सीरीज में कमाल का प्रदर्शन किया। विराट ने 5 मैचों में 136.50 की औसत से 273 रन बनाए। विरोधी टीमों के पास विराट को आउट करने का कोई तरीका नहीं था इसलिये वो 5 पारियों में सिर्फ 2 बार विराट को आउट कर सके। यानी तीन पारियों में विराट नाबाद लौटे। महानायक अमिताभ बच्चन भी इस विश्व कप में विराट का समर्थन करते दिखे। विराट ने पाकिस्तान और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ जिस तरह मुश्किल परिस्थितियों लक्ष्य का पीछा करते हुए जीत दिलाई उससे पूरी दुनिया उनका गुणगान करने लगी। विराट ने इस सीरीज में 3 अर्धशतक जमाए। इन 3 अर्धशतकों में 2 बार उन्होने 80 से ऊपर का स्कोर बनाया। पूर्व खिलाड़ियों ने विराट को मौजूदा दौर का सबसे बेहतरीन बल्लेबाज बताया। ALSO READ: टी20 क्रिकेट का रिकॉर्ड किंग- विराट कोहली

जो काम विराट कोहली भारत के लिए कर रहे थे वही काम इस विश्व कप में इंग्लैंड के लिए जो रूट कर रहे थे। रूट ने इस विश्व कप में 6 मैचों में 49.80 की औसत से 249 रन बनाए। इस दौरान रूट ने 2 बार 50 से ज्यादा का स्कोर बनाया। साउथ अफ्रीका के खिलाफ 230 रनों के स्कोर का पीछा करते हुए उन्होने 83 रनों की पारी खेली। इस पारी को भी क्रिकेट जगत ने सराहा। विश्व कप फाइनल में भी उन्होने 54 रनों की पारी खेल कर टीम को जीत दिलाने की कोशिश की लेकिन उनकी ये कोशिश नाकाम रही। लेकिन रूट ने अपने प्रदर्शन से साबित किया कि वो किसी से कम नहीं है।

अब अगर दोनों की तुलना की बात करें तो इसकी शुरूआत इंग्लैंड के पूर्व क्रिकेटर एंड्रयू फ्लिंटाफ ने की। फ्लिंटाफ ने रूट को विराट से बेहतर बताया लेकिन उनको तुरंत ही अमिताभ बच्चन की तरफ से करारा जवाब मिला। अगर इस सीरीज में दोनों के प्रदर्शन को भी देखें तो विराट ने रूट से बेहतर खेल दिखाया है। हालांकि रूट रन बनाने के मामले में विराट से ज्यादा पीछे नहीं है। लेकिन रन बनाने के औसत और लक्ष्य का पीछा करते हुए विराट के सामने कोई नहीं टिकता। विराट ने 273 में 160 रन लक्ष्य का पीछा करते हुए बनाए। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उनकी 82 रनों की पारी टूर्नामेंट की सबसे बेहतरीन पारी रही।