ICC CRICKET World Cup 2019: England crush defending champions Australia, set up final vs New Zealand
England cricket team and world cup trophy

आईसीसी विश्व कप अब अपने अंतिम पड़ाव पर पहुंच चुका है। टूर्नामेंट के विजेता का फैसला रविवार 14 जुलाई को ‘क्रिकेट के मक्का’ लार्ड्स पर हो जाएगा। न्यूजीलैंड और इंग्लैंड की टीम ने विश्व कप के खिताबी मुकाबले के लिए जगह पक्की की है।

30 मई को शुरू हुआ विश्व कप टूर्नामेंट अब तक उम्मीद के मुताबिक बेहद ही रोमांचक रहा है। टूर्नामेंट जीतने की प्रबल दावेदार इंग्लैंड की टीम फाइनल में पहुंची है और उसका सामना न्यूजीलैंड के साथ होगा। दोनों टीमों ने अब तक यह खिताब नहीं जीता है यानी यह बात तो तय है कि इस बार क्रिकेट की दुनिया का नया विश्व चैंपियन मिलने वाला है।

दो दिन में बदला विश्व कप का खेल

महज दो दिन के भीतर विश्व कप पूरा खेल बदल गया है। भारतीय टीम को पहले सेमीफाइनल में बेहद मुश्किल हालात में कड़ी टक्कर देते हुए न्यूजीलैंड ने हराया। वहीं दूसरे सेमीफाइनल को मेजबान इंग्लैंड ने एकतरफा बनाते हुए ऑस्ट्रेलिया पर 8 विकेट से जीत दर्ज करते हुए फाइनल में जगह पक्की की। भारत और ऑस्ट्रेलिया दोनों ही टीमें शानदार लय में थी और टूर्नामेंट से उनके नाम सबसे ज्यादा जीत दर्ज थी।

टूर्नामेंट के टॉप टीमें बाहर

भारत और ऑस्ट्रेलिया की टीम ने सेमीफाइनल से पहले टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन किया। ग्रुप मुकाबलों में 7-7 मुकाबले जीतकर दोनों ही टीमें प्वाइंट्स टेबल में पहले दो स्थान पर रही थी। भारत पहले जबकि ऑस्ट्रेलिया ने दूसरे स्थान पर रहते हुए सेमीफाइनल में जगह बनाई थी। दोनों ही टीमों के फाइनल में पहुंचने की पूरी उम्मीद थी लेकिन सेमीफाइनल में ही उनका सफर थम गया।

क्रिकेट जगत को मिलेगा नया विश्व चैंपियन

इंग्लैंड और न्यूजीलैंड की टीमें विश्व कप फाइनल में पहुंची हैं। यह दोनों ही टीमें अपने पहले खिताब को जीतने के लिए रविवार को आमने-सामने होंगी। न्यूजीलैंड का यह लगातार दूसरा विश्व कप फाइनल होगा जबकि इंग्लैंड की टीम ने 27 साल बाद फाइनल में जगह बनाई है।

पढ़ें: AUS पर 8 विकेट से एकतरफा जीत दर्ज कर फाइनल में पहुंचा ENG

मेजबान इंग्लैंड की टीम ने साल 1979, 1987 और साल 1992 में विश्व कप फाइनल खेला। तीनों बार खिताब जीतने के करीब पहुंचकर वह ट्रॉफी उठाने से चूक गई। न्यूजीलैंड की टीम 6 बार सेमीफाइनल में हारकर टूर्नामेंट से बाहर हुई थी। यह उसका महज दूसरा मौका होगा जब वह फाइनल खेलेगी। पिछले विश्व कप में ऑस्ट्रेलिया ने उसे हराकर उसके पहली बार चैंपियन बनने का सपना तोड़ा था।