IPL 2019, SRH vs CSK: MS Dhoni’s absence and other Talking points from Hyderabad vs Chennai clash

इंडियन प्रीमियर लीग के 12वें सीजन में चेन्नई सुपर किंग्स की जीत का सिलसिला आखिरकार टूट ही गया। सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ 33वें लीग मैच में चेन्नई को 6 विकेट से करारी हार का सामना करना पड़ा। हालांकि चेन्नई अब भी अंकतालिका में टॉप पर है लेकिन सुरेश रैना ने इस हार को आंख खोलने वाला बताया है। आइए जानते हैं कि किन कारणों के चलते चेन्नई का अजेय रथ हैदराबाद के राजीव गांधी अंतर्राष्ट्रीय स्टेडियम में जाकर रुक गया।

महेंद्र सिंह धोनी की गैर मौजूदगी:

आईपीएल इतिहास में मंगलवार को ऐसा चौथी बार हुआ जब चेन्नई टीम बिना धोनी के खेलने उतरी और नतीजा टीम की हार रहा। चेन्नई टीम ने हैदराबाद के खिलाफ मैच में ना केवल कप्तान महेंद्र सिंह धोनी बल्कि बल्लेबाज धोनी की कमी भी महसूस की। पहले बल्लेबाजी करते हुए चेन्नई टीम को शेन वाटसन और फाफ डु प्लेसिस ने अच्छी शुरुआत दिलाई लेकिन इन दोनों खिलाड़ियो के आउट होने के बाद टीम में कोई ऐसा बल्लेबाज नहीं था जिसने क्रीज पर टिककर साझेदारी बनाने की कोशिश की हो, जैसा कि धोनी आमतौर पर करते हैं। चेन्नई टीम ने लगातार विकेट खोए और हैदराबाद के सामने 133 रनों का आसान लक्ष्य रखा।

शाहबाज नदीम-शेन वाटसन का विकेट:

हैदराबाद टीम ने चेन्नई के खिलाफ मैच में शाहबाद नदीम को मौका दिया गया और इस गेंदबाज ने अपनी टीम को बड़ी सफलता दिलाई। चेन्नई के सलामी बल्लेबाज शेन वाटसन 12वें सीजन में अब तक संघर्ष करते दिखे हैं लेकिन कल के मैच में वो अच्छी बल्लेबाजी कर रहे थे। वाटसन ने डु प्लेसिस के साथ मिलकर पहले विकेट के लिए अर्धशतकीय साझेदारी बनाई और पावरप्ले में एक भी विकेट नहीं गिरने दिया। 9 ओवरों तक कोई सफलता ना मिलने के बाद कप्तान केन विलियमसन नदीम को अटैक में लाए और इस गेंदबाज ने पहले ही ओवर में कप्तान को बड़ी सफलता दिलाई। नदीम ने बैकफुट पर खेल रहे वाटसन का ऑफ स्टंप उड़ाया और उन्हें वापस पवेलियन भेजा। पहला विकेट मिलने के बाद हैदराबाद के गेंदबाजों ने चेन्नई को संभलने को मौका नहीं दिया।

राशिद खान:

इस अफगानी लेग स्पिनर ने एक बार फिर हैदराबाद के लिए मैच विनिंग प्रदर्शन किया। खान ने अपने 4 ओवर के स्पेल में मात्र 17 रन देकर दो विकेट निकाले। राशिद ने कप्तान सुरेश रैना और केदार जाधव के अहम विकेट लिए।

वार्नर-बेयरस्टो:

133 रन का लक्ष्य खास मुश्किल नहीं था लेकिन अगर डेविड वार्नर और जॉनी बेयरस्टो को छोड़ दे तो हैदराबाद का बल्लेबाजी क्रम खास मजबूत नहीं है। हालांकि चेन्नई के खिलाफ मैच में हैदराबाद के दोनों सलामी बल्लेबाजों ने अर्धशतकीय पारियां खेली और टीम की हार का सिलसिला तोड़ा। वार्नर और बेयरस्टो ने पहले विकेट के लिए 66 रनों की साझेदारी बनाई। चेन्नई के तेज गेंदबाज दीपक चाहर हैदराबाद के खिलाफ खास सफलता हासिल नहीं कर पाए। हालांकि चाहर ने छठें ओवर में वार्नर को आउट जरूर किया लेकिन बेयरस्टो ने पारी को संभाल लिया।

नहीं चले चेन्नई के स्पिनर:

चेन्नई टीम की प्रमुख ताकत उनके स्पिन गेंदबाज है। चाहे हरभजन सिंह हो, इमरान ताहिर हो या रविंद्र जडेजा, स्पिनर्स ने चेन्नई को हमेशा मैच जिताएं हैं। हैदराबाद के खिलाफ मैच में चेन्नई टीम की यही कड़ी कमजोर नजर आई। ताहिर ने बीच के ओवरों में केन विलियमसन और विजय शंकर के विकेट निकाले लेकिन जडेजा को कोई विकेट नहीं मिला। वहीं कप्तान सुरेश रैना ने कर्ण शर्मा (2.5 ओवर) से ज्यादा ओवर ही नहीं करवाए। तेज गेंदबाज शार्दुल ठाकुर फिर महंगे (3/31/0) साबित हुए और हैदराबाद टीम ने केवल 16.5 ओवर में मैच खत्म किया।