IPL 2019 team review: David Warner comback was great, sunrisers hyderabad’s performance average
Sunrisers Hyderabad

पिछले सीजन की उप विजेता हैदराबाद के लिए इस सीजन में इंडियन प्रीमियर लीग का सफर कुछ खास नहीं रहा। किस्मत के भरोसे टीम प्लेऑफ में जरूर पहुंची लेकिन अपने नाम के मुताबिक प्रदर्शन नहीं कर पाई। ये भी अजीब इत्तेफाक ही है कि जिस टीम के बल्लेबाज के नाम टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा रन हों वो चौथे स्थान पर रहे।

शुरुआती मुकाबलों में भुवनेश्वर कुमार और फिर केन विलियमसन की कप्तानी में टीम ने औसत प्रदर्शन ही किया। 1 साल के बैन के बाद वापसी कर रहे डेविड वार्नर ने धमाकेदार बल्लेबाजी की और टीम को कई जीत दिलाई। वार्नर को साथ मिला डेब्यू कर रहे इंग्लैंड के विकेटकीपर बल्लेबाज जॉनी बेयरस्टो का, दोनों ने टीम के लिए बेहतरीन ओपनिंग की और कई मुकाबलों में अहम साबित हुए।

आईपीएल 2019 में हैदराबाद का प्रदर्शन

हैदराबाद की टीम को कई करीबी मुकाबलों में हार का सामना करना पड़ा। महज 12 अंक हासिल करने के बाद भी वह प्लेऑफ में पहुंचने में कामायब रही। कोलकाता के खिलाफ हार से शुरुआत करने के बाद टीम ने तीन लगातार जीत हासिल करते हुए प्वाइंट्स टेबल पर मौजूदगी दर्ज कराई।

पढ़ें- IPL 2019: 12वें सीजन की चैंपियन मुंबई के सफर पर एक नजर

तीन जीत के बाद मुंबई, पंजाब और दिल्ली के खिलाफ मिली तीन लगातार हार ने टीम का बैलेंस बिगाड़ दिया। मुंबई के खिलाफ सुपर ओवर में गया मुकाबला हारने के बाद आखिरी लीग मैच में बैंगुलरू ने उसे शिकस्त दे दी। सनराइजर्स प्लेऑफ में पहुंचने के लिए दूसरी टीमों पर निर्भर हो गए। मुंबई ने कोलकाता को हराया और हैदराबाद की किस्मत खुली। चौथे स्थान पर रहते हुए एलिमिनेटर खेलने उतरी हैदराबाद को दिल्ली ने हराया और उसके टूर्नामेंट का सफर थम गया।

टीम के टॉप बल्लेबाज

डेविड वार्नर ने विश्व कप की तैयारी के लिए ऑस्ट्रेलिया लौटने से पहले 12 मुकाबले खेले और 69 की बेमिसाल औसत से 692 रन बनाए। वार्नर टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज रहे। उन्होंने कुल 8 अर्धशतक और 1 शानदार शतक जमाया।

पढ़ें- महज 1 और जीत से प्‍लेऑफ में पहुंच सकती थी RCB

दूसरे नंबर पर इंग्लैंड के जॉनी बेयरस्टो रहे जिन्होंने वतन लौटने से पहले 10 मैच खेलकर 445 रन बनाए। वार्नर और बेयरस्टो की जोड़ी सुपरहिट रही। बेयरस्टो ने 55 की औसत से रन बनाए जिसमें 2 अर्धशतक और 1 शतक शामिल रहा।

मनीष पांडे का बल्ला टीम के लिए सही समय पर चला और उन्होंने वार्नर और बेयरस्टो के जाने के बाद बहुत हद तक कमान संभाली। मनीष ने 12 मैच खेले जिसमें 3 अर्धशतकीय पारी खेलते हुए 344 रन बनाए।

टीम के टॉप गेंदबाज

भारतीय टीम के युवा तेज गेंदबाज खलील अहमद ने इस टूर्नामेंट में अपनी जबरदस्त छाप छोड़ी, खलील ने 9 मैच में 19 विकेट चटकाए और 8 की इकोनॉमी से रन दिए। उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 30 रन देकर तीन विकेट रहा। इस सीजन में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज की लिस्ट में वह पांचवें स्थान पर रहे।

पढ़ें- IPL के नए सीजन में नए नाम के साथ उतरी दिल्ली का शानदार रहा प्रदर्शन

राशिद खान का जलवा इस बार उतना नहीं दिखा लेकिन फिर भी टीम के लिए कई अहम मौकों पर उन्होंने विकेट चटकाए। 15 मुकाबले खेलने के बाद राशिद ने 17 विकेट हासिल किए जिसमें 21 रन देकर 3 विकेट उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन रहा।

शुरुआती मुकाबलों में टीम की कप्तानी करने वाले भुवनेश्वर कुमार ने 15 मुकाबलों में हैदराबाद के लिए 13 विकेट हासिल किए।

वार्नर और बेयरस्टो की ओपनिंग शानदार रही

टूर्नामेंट के अपने पहले मुकाबले में इस जोड़ी ने कोलकाता के खिलाफ 118 रन की साझेदारी निभाई थी। राजस्थान के खिलाफ बेयरस्टो ने वार्नर के साथ मिलकर पहले विकेट के लिए 110 रन की साझेदारी थी। इस मैच में उन्होंने 28 गेंद पर 45 रन बनाए थे। बैंगलुरू के खिलाफ उन्होंने वार्नर के साथ 185 रन जोड़े और 56 गेंद पर 114 रन की पारी खेली। कोलकाता के खिलाफ बेयरस्टो ने वार्नर के साथ मिलकर 131 रन जोड़े थे।