तीसरे टी20 मुकाबले में इंग्लैंड ने पाकिस्तान को सुपर ओवर में हराकर सीरीज 3-0 से कब्जा जमाया था© Getty Images
तीसरे टी20 मुकाबले में इंग्लैंड ने पाकिस्तान को सुपर ओवर में हराकर सीरीज 3-0 से कब्जा जमाया था© Getty Images

क्रिकेट में ‘सुपर ओवर’ का नियम क्रिकेट के टी-20 प्रारूप के आगमन के बाद आया। ‘सुपर ओवर’ को ‘एलीमीनेटर’ भी कहा जाता है, टी-20 मैच टाई होने की स्थिती में इसका इस्तेमाल किया जाता है। ‘सुपर ओवर’ से पहले 3 मौकों पर टाई मैचों का फैसला ‘बॉल आउट’ से होता था, लेकिन इस नियम को दर्शकों ने नकार दिया जिसके बाद आईसीसी ने ‘सुपर ओवर’ का नियम लागू किया। इसमें दोनों टीमें अपने तीन बल्लेबाज और एक गेंदबाज को चुनती है। जो टीम मैच में पहले बल्लेबाजी करती है ‘सुपर ओवर’ में पहले गेंदबाजी करती है। ‘सुपर ओवर’ में जो टीम ज्यादा रन बनाती है उसको मैच का विजेता घोषित किया जाता है। ‘सुपर ओवर’ में मेडेन डालने का अनोखा रिकॉर्ड सुनील नरेन के पास है। T20I में अब तक 6 मौकों पर ‘सुपर ओवर’ का इस्तेमाल हुआ है। तो आइए आपको इन 6 मौकों के बारे में बताते हैं।

1.वेस्टइंडीज बनाम न्यूजीलैंड:
26 दिसंबर 2008 को हुए इस टी-20 मुकाबले में न्यूजीलैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 7 विकेट खोकर 155 रन बनाए। जवाब में वेस्टइंडीज टीम ने क्रिस गेल की आक्रामक पारी की बदौलत 20 ओवर की समाप्ति पर 8 विकेट खोकर 155 रन बनाए। मैच का नजीता परिणाम जानने के लिए सुपर ओवर का इस्तेमाल किया गया। सुपर ओवर में न्यूजीलैंड के लिए गेंदबाजी की कमान विटोरी ने संभाली जबकि वेस्टइंडीज के लिए क्रिस गेल और मार्शल बल्लेबाजी करने उतरे। गेल ने ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करते हुए सुपर ओवर में 25 रन ठोंक डाले।

वेस्टइंडीज के लिए सुपर ओवर में गेंदबाजी की कमान सुलेमान बेन ने संभाली जबकि उनका सामना करने के लिए न्यूजीलैंड की ओर से ओरम और मैकालम उतरे। ओरम ने पहली गेंद पर छक्का जड़ा लेकिन बेन ने सुपर ओवर की तीसरी गेंद पर ओरम को चलता किया जिसके बाद बल्लेबाजी करने रॉस टेलर उतरे टेलर ने आते ही छक्का जड़ा लेकिन बेन ने अगली ही गेंद पर उनको बोल्ड कर वेस्टइंडीज को सुपर ओवर में पहली जीत दिला दी । ALSO READ: एशिया कप 2016, भारत बनाम श्रीलंका( प्रिव्यु): श्रीलंकाई शेरों को मात देने उतरेगी टीम इंडिया

2.ऑस्ट्रेलिया बनाम न्यूजीलैंड:
क्राइस्टचर्च में 28 फरवरी 2010 को खेले गए इस मैच में बल्लेबाजों का दबदबा देखने को मिला पहले बल्लेबाजी करते हुए मैकालम के शानदार शतक की बदौलत 6 विकेट खोकर 214 रन बनाए जवाब में ऑस्ट्रेलिया ने भी क्लार्क और व्हाइट की शानदार पारियों की मदद से 4 विकेट पर 214 रन बनाए। सुपर ओवर में टिम साउदी ने डेविड वार्नर को तीसरी गेंद पर कैच आउट करा दिया इसके बाद अगली तीन गेंदो पर कैमरून व्हाइट और हैडिन कुछ खास कमाल नही दिखा सके और ओवर की समाप्ति पर स्कोर था 6/1।

ऑस्ट्रेलिया ने सुपर ओवर की जिम्मेदारी अपने सबसे तेज गेंदबाज शान टेट को दी जबकि न्यूजीलैंड के लिए मैकालम और गुप्टिल बल्लेबाजी करने आए। टेट सुपर ओवर में अपनी लाइन लेंथ से संघर्ष करते दिखे गुप्टिल ने सुपर ओवर की चौथी गेंद पर चौका जड़ मैच को न्यूजीलैंड की झोली में डाल दिया। ALSO READ: रोहित शर्मा और विराट कोहली के बिना कितनी मजबूत भारतीय बल्लेबाजी

3.ऑस्ट्रेलिया बनाम पाकिस्तान:
7 सितंबर 2012 को खेले गए इस मुकाबले में दोनों टीमों ने 20 ओवर का कोटा खत्म होने पर 151 रन बनाए। मैच सुपर ओवर में पहुंचा जहां ऑस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाजी की और वाटसन और वार्नर को सुपर ओवर खेलने के लिए भेजा पाकिस्तान के लिए सुपर ओवर में गेंदबाजी की कमान उमर गुल ने संभाली गुल ने पाकिस्तान टीम को निराश नहीं किया और अपने ओवर में वार्नर का विकेट लेते हुए सिर्फ 11 रन बनने दिए। अब बारी पाकिस्तान की थी। पाकिस्तान ने बल्लेबाजी की कमान उमर अकमल और अब्दुल रज्जाक ने संभाली जबकि ऑस्ट्रेलिया के लिए सुपर ओवर की कमान युवा पैट कमिंस कोट दी गई।

पहली गेंद बीट होने के बाद अकमल ने कमिंस को चौका मारने के बाद अगली गेंद पर सिंगल लेकर स्ट्राइक रज्जाक को दे दी, रज्जाक ने चौथी गेंद पर चौका जड़कर मैच को पाक की ओर मोड़ दिया अगली गेंद पर रज्जाक ने एक रन दौड़ कर स्ट्राइक अकमल को दे दी अगली गेंद कमिंस ने बाउंसर की लेकिन सर से ऊपर होने के कारण इसे वाइड करार दिया गया, अब अंतिम गेंद पर पाक को जीत के लिए 1 रन चाहिए थे जो कि अकमल ने एक तेज रन चुरा करा बना दिए इस तरह ऑस्ट्रेलिया ने अपना लगातार दूसरा सुपर ओवर मुकाबला गवां दिया। ALSO READ: बल्लेबाजों की भीड़ में चमक बिखेरते ये गेंदबाज

4.श्रीलंका बनाम न्यूजीलैंड:
13 मार्च 2012 को टी-20 वर्ल्ड कप के इस मुकाबले में सुपर ओवर की बाजी श्रीलंका के हाथ लगी। मैच में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए न्यूजीलैंड ने 20 ओवर में 7 विकेट पर 174 रन बनाए, न्यूजीलैंड के लिए रॉब निकोल ने सबसे ज्यादा 58 रन बनाए, जवाब में श्रीलंका टीम भी 20 ओवर खत्म होने तक दिलशान के शानदार 76 रनों की पारी की बदौलत 6 विकेट पर 174 रन ही बना सकी। मैच का परिणाम जानने के लिए सुपर ओवर का सहारा लिया गया। सुपर ओवर में श्रीलंकाई बल्लेबाजी की कमान जयवर्धने, तिसारा परेरा और दिलशान ने संभाली जबकि न्यूजीलैंड के लिए सुपर ओवर डाला टिम साउदी ने। साउदी ने अपने ओवर में जयवर्धने का विकेट लेने के सिर्फ 13 रन दिए। न्यूजीलैंड के सुपर ओवर खेलने आए गुप्टिल और मैकालम जबकि उनके सामने थे श्रीलंकाई पेस सनसनी मालिंगा। मालिंगा ने एक के बाद एक यार्कर डाल कर न्यूजीलैंड के बल्लेबाजों को रन बनाने का मौका नहीं दिया और न्यूज़ीलैंड की टीम सुपर ओवर में एक विकेट खोकर सिर्फ 7 रन ही बना सकी। इस तरह टी-20 विश्व कप के इतिहास के पहले सुपर ओवर की बाजी श्रीलंका टीम के हाथ लगी। ALSO READ: स्पेशलिस्ट ऑलराउंडर के रूप में उम्मीद जगाते हार्दिक पांड्या

5.वेस्टइंडीज बनाम न्यूजीलैंड:
1अक्टूबर 2012 के टी-20 विश्व कप का एक और मुकाबला टाई हुआ। इस बार वेस्टइंडीज और न्यूजीलैंड एक दूसरे के आमने-सामने थी। गेंदबाजों के दबदबे वाले इस मुकाबले में सुपर ओवर में बल्लेबाज हावी रहे। टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला लेने वाली न्यूजीलैंड टीम ने वेस्टइंडीज को 19.3 ओवर में 139 रनों पर समेट दिया। न्यूजीलैंड के लिए ब्रेसवेल और साउदी ने तीन-तीन विकेट चटकाए। 140 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी न्यूजीलैंड की शुरूआत भी खराब रही और उसने 52 रन के स्कोर पर ही अपने तीन महत्वपूर्ण बल्लेबाजों को गंवा दिया, रॉस टेलर न्यूजीलैंड को मैच में वापस लाए लेकिन मैच जीता नहीं सके हां मुकाबले को सुपर ओवर तक जरूर खींच दिया।

सुपर ओवर में वेस्टइंडीज ने गेंदबाजी की जिम्मेदारी सैमुअल्स को दी जबकि न्यूजीलैंड के लिए टेलर और मैकालम क्रीज पर आए। सैमुअल्स ने सुपर ओवर की पहली गेंद वाइड डाली अगली गेंद पर टेलर ने दो रन लिए, टेलर ने ओवर की चौथी गेंद पर चौका और पांचवी गेंद पर छक्का जड़ा अंतिम गेंद पर टेलर ने 2 रन लेकर टीम का टोटल 17 पहुंचा दिया। वेस्टइंडीज के लिए सुपर ओवर खेलने गेल और सैमुअल्स आए जबकि उनके सामने थे न्यूजीलैंड के सुपर ओवर स्पेस्लिस्ट टिम साउदी, लेकिन गेल इस मैच में अलग मूड में थे उन्होने साउदी की पहली ही गेंद जो नो बॉल थी को छक्के के लिए स्टैंड में भेज दिया अगली गेंद पर सिंगल लेकर गेल ने स्ट्राइक सैमुअल्स को दे दिया, सैमुअल्स ने साउदी की पांचवी गेंद पर छक्का लगाकर मैच को वेस्टइंडीज की झोली में डाल दिया।

6.पाकिस्तान बनाम इंग्लैंड:
30 नवंबर 2015 को पाकिस्तान और इंग्लैंड के बीच खेला गया मुकाबला टाई रहा। इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में 8 विकेट खोकर 154 रन बनाए। जवाब में पाकिस्तान टीम भी 20 ओवर में 7 विकेट खोकर 154 रन ही बना सकी। पाकिस्तान टीम ने सुपर ओवर में शाहिद अफरीदी और उमर अकमल को बल्लेबाजी के लिए भेजा तो इंग्लैंड के लिए क्रिस जॉर्डन ने गेंदबाजी की जिम्मेदारी संभाली।

जॉर्डन ने शानदार गेंदबाजी करते हुए पाकिस्तानी बल्लेबाजों को सिर्फ 3 रन बनाने दिया साथ ही अंतिम गेंद पर उमर अकमल को आउट भी कर दिया। इंग्लैंड को जीत के लिए 4 रन बनाने थे जो इयान मोर्गन और जॉश बटलर ने 5 गेंदों में बना लिये और इंग्लैंड ने सुपर ओवर का ये मुकाबला जीत लिया।