जहीर खान ने मैच में कुल 9 विकेट लिए थे © Getty Images
जहीर खान ने मैच में कुल 9 विकेट लिए थे © Getty Images

इंग्लैंड की क्रिकेट टीम इन दिनों भारत दौरे पर है। जहां वो राजकोट में सीरीज का पहला टेस्ट मैच खेल रही है। दोनों देशों के बीच जब भी कोई सीरीज होती है, कुछ ना कुछ विवाद जरूर सामने आता है। ऐसा ही एक विवाद टीम इंडिया के फास्ट बॉलर जहीर खान और इंग्लिश क्रिकेटर केविन पीटरसन के बीच साल 2007 में हुआ था। जब भारतीय टीम तीन टेस्ट मैचों की सीरीज खेलने इंग्लैंड गई थी। ये विवाद जुलाई 2007 में इंग्लैंट टूर पर नॉटिंघम में हुए दूसरे टेस्ट मैच के दौरान हुआ था। टेस्ट मैच में काफी तनावपूर्ण माहौल हो गया था और भारत ने तनाव को झेलते हुए मैच को अपने नाम किया था। तो आइए आपको विस्तार से बताते हैं उस विवाद के बारे में।

मैच में इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए भारतीय गेंदबाजों के सामने घुटने टेक दिए और पूरी टीम मात्र 198 रनों पर ढेर हो गई। भारत की तरफ से तेज गेंदबाज जहीर खान ने बेहतरीन गेंदबाजी करते हुए पहली पारी में चार खिलाड़ियों को आउट किया। वहीं अनिल कुंबले ने भी तीन विकेट अपने नाम किए थे। जिसके जवाब में भारतीय बल्लेबाजों ने बेहतरीन बल्लेबाजी का मुजाहिरा पेश किया छह में से पांच बल्लेबाजों ने अर्धशतक जड़ दिए। सचिन तेंदुलकर दुर्भाग्यवश 91 रनों पर आउट हो गए और अपने शतक से मात्र 9 रनों से चूक गए। वहीं सौरव गांगुली ने भी 79 रनों की पारी खेली। इनके अलावा दिनेश कार्तिक ने 77 और वसीम जाफर ने 62 रन बनाए और लक्ष्मण ने भी 54 रनों की पारी खेली। भारत ने छह अर्धशतकों की मदद से पहली पारी में शानदार 481 रन बनाए और पहली पारी के आधार पर 266 रनों की बढ़त बना ली।

मैच के दौरान लक्ष्मण के आउट होने के बाद जहीर खान बल्लेबाजी के लिए आए। जहीर जब बल्लेबाजी कर रहे थे, तब उन्होंने क्रीज पर कुछ जैली बीन्स (टॉफी) पड़ी देखीं। जिसे उन्होंने तुरंत वहां से हटा दिया। लेकिन अगली बॉल खेलने के बाद उन्हें पिच पर एकबार फिर कई और जैली बीन्स पड़ी दिखाई दीं। जिससे गुस्साए जहीर ने स्लिप में फील्डिंग कर रहे केविन पीटरसन से ऐसा नहीं करने को कहा। तब गलती मानने की बजाए पीटरसन, जहीर से उलझने लगे। ऐसे में जहीर ने भी गुस्से में पीटरसन को बैट दिखा दिया। इसके बाद दोनों अंपायर इन प्लेयर्स के पास पहुंचे और उन्होंने मामले को शांत करने की कोशिश की। इस मैच में जहीर को छेड़ना इंग्लिश टीम को बेहद भारी पड़ा था।

जब इंग्लैंड दूसरी पारी में बल्लेबाजी के लिए आई। तो जहीर खान इंग्लैंड टीम पर कहर बनकर टूटे। जहीर ने इंग्लैंड के बल्लेबाजों को मैदान पर टिकने नहीं दिया और आतिशी गेंदबाजी करते हुए दूसरी पारी में पांच खिलाड़ियों को आउट कर दिया। जगीर पहली पारी में इंग्लैंड के केविन पीटरसन द्वारा उलझाए जाने से काफी नाराज थे। और उनकी नाराजगी गेंदबाजी में साफ झलक रही थी। पूरे मैच में जहीर खान ने कुल 9 विकेट हासिल किए। जहीर के बेहतरीन प्रदर्शन के कारण उन्हें मैन ऑफ द मैच का खिताब भी हासिल हुआ।

दूसरी पारी में भारत को जीत के लिए मात्र 73 रन बनाने थे। जो भारत ने 7 विकेट खोकर आसानी से बना लिए थे। भारतीय टीम के लिए ये जीत काफी अहम थी। भारत ने ना केवल ये मैच 7 विकेट से जीता था, बल्कि इसी मैच की वजह से तीन मैचों की सीरीज भी वो 1-0 से जीत गया था। मैच के बाद इंग्लैंड टीम के कप्तान माइकल वॉन ने जैली-बीन्स विवाद के लिए माफी मांग ली थी।