×

साल 2016 की सबसे बेहतरीन पारियां

साल 2016 में 2 बल्लेबाजों ने टेस्ट क्रिकेट में तिहरा शतक जमाया तो इस साल टेस्ट क्रिकेट इतिहास का दूसरा सबसे तेज दोहरा शतक बेन स्टोक्स ने बनाया

साल 2016 में क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में बल्लेबाजों का दबदबा देखने को मिला © Getty Images
साल 2016 में क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में बल्लेबाजों का दबदबा देखने को मिला © Getty Images

क्रिकेट की दुनिया में साल 2016 गवाह बना कुछ बेहतरीन पारियों का। करुण नायर ने अपनी तीसरी ही पारी में तिहरा शतक जड़ दिया तो ग्लेन मैक्सवेल ने टी20 इंटरनेशनल में सबसे बड़ी पारी खेली। अजहर अली ने गुलाबी गेंद से खेले गए टेस्ट में तिहरा शतक जमाकर इसे यादगार टेस्ट बनाया। ऐसे ही बहुत से यादगार पल बल्लेबाजों ने बनाए। क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में बल्लेबाजों ने शानदार खेल का प्रदर्शन करते हुए पूरे साल बल्ले की धमक बरकरार रखी। तो आइए इस साल टेस्ट, वनडे और टी20 क्रिकेट में बल्लेबाजों द्वारा खेली गई कुछ बेमिसाल पारियों के बारे में जानते हैं।

टेस्ट:

फॉफ डू प्लेसिस बनाम 118 ऑस्ट्रेलिया, एडिलेड:
बॉल टेंपरिंग के आरोप के बाद कप्तान फॉफ डू प्लेसिस पहली बार मैदान में उतरे थे और उन पर भारी दबाव था। जब वह मैदान में बल्लेबाजी के लिए उतर रहे थे तो ऑस्ट्रेलियाई दर्शकों ने उनके खिलाफ हूटिंग की। इस समय तक साउथ अफ्रीका 44 रन पर अपने 3 विकेट गंवा चुकी थी और कंगारू गेंदबाज गेंदों से आग उगल रहे थे। ऐसी मुश्किल परिस्थिति में डू प्लेसिस ने कप्तानी पारी खेलते हुए शानदार शतक जमाया। हालांकि अंत में साउथ अफ्रीका इस टेस्ट को हार गई लेकिन डू प्लेसिस ने जिस दबाव की स्थिति में यह शतक जमाया वह काबिलेतारीफ था।

विराट कोहली 200 बनाम वेस्टइंडीज, एंटीगुआ:
वेस्टइंडीज के खिलाफ एंटीगुआ टेस्ट में विराट जब बल्लेबाजी करने उतरे तो उनपर विदेशों में हार के क्रम को तोड़ने का दबाव था। साथ ही खुद को एक टेस्ट एक बेहतर टेस्ट बल्लेबाज साबित करना था। एंटीगुआ में हुए पहले टेस्ट में विराट ने शानदार पारी खेलते हुए अपने टेस्ट करियर का पहला दोहरा शतक बनाया। एक बार उन्होंने यह आंकड़ा छू लिया फिर वह इतने कॉन्फिडेंट हो गए कि अगली दो सीरीज में उनके बल्ले से 2 दोहरे शतक और निकले।  [Also Read: साल 2016 की सबसे विस्फोटक पारियां]

बेन स्टोक्स 258 बनाम साउथ अफ्रीका, केपटाउन:
साउथ अफ्रीका के खिलाफ उन्हीं की धरती पर जाकर इंग्लैंड के ऑलराउंडर बेन स्टोक्स ने कत्लेआम मचाया। स्टोक्स ने 258 रनों की इस पारी में किसी भी साउथ अफ्रीकी गेंदबाज को नहीं बक्शा और टेस्ट क्रिकेट इतिहास का दूसरा सबसे तेज दोहरा शतक जमाया। अगर वह 10 गेंद पहले दोहरा शतक पूरा कर लेते तो वह सबसे तेज दोहरा शतक जमाने वाले बल्लेबाज बन जाते। अपनी पारी के दौरान स्टोक्स ने 30 चौके और 11 छक्के लगाए।

मिस्बाह उल हक 114 बनाम इंग्लैंड, लॉर्ड्स:
इंग्लैंड गेंदबाजों की स्विंग होती गेंदों के सामने पाकिस्तान के कप्तान ने लॉर्ड्स के मैदान पर शानदार शतक जमाकर अपनी टीम को जीतने का हौसला दिया। शतक बनाने के बाद उनका ‘पुश अप सेलीब्रेशन’ साल के सबसे बेहतरीन मोमेंट्स में एक रहा। यह मिस्बाह की विषम परिस्थियों में खेली गई पारी का ही नतीजा था किन पाकिस्तान ने ना सिर्फ लॉर्ड्स में जीत हासिल की बल्कि इंग्लैंड को कांटे की टक्कर देते हुए सीरीज में बराबरी की। [Also Read: साल 2016 के 5 सबसे रोमांचक टी20 इंटरनेशनल मुकाबले]

टी20:

कार्लोस ब्रेथवेट 34* बनाम इंग्लैंड, कोलकाता:
किसी भी बल्लेबाज के लिए इससे बेहतरीन पारी क्या हो सकती है जिससे उसकी टीम विश्व विजेता बन जाए। कार्लोस ब्रेथवेट ने टी20 विश्व कप फाइनल में 10 गेंदों पर 34 रन बनाकर अपनी टीम को विश्व विजेता बना दिया। बेन स्टोक्स के अंतिम ओवर में उन्होंने 4 लगातार छक्के जमाते हुए इंग्लैंड के विश्व कप जीतने के सपने को तोड़ते हुए खुद के सपने को पूरा किया।

ग्लेन मैक्सवेल 145 बनाम श्रीलंका, पालेकेले:
श्रीलंका की धरती पर जाकर ग्लेन मैक्सवेल ने जो धमाल मचाया वह दर्शकों के जेहन में बस गया। लगातार खराब फॉर्म की वजह से आलोचनाएं झेल रहे मैक्सवेल ने श्रीलंका के खिलाफ पहले टी20 मुकाबले में विस्फोटक रूख अपनाते हुए श्रीलंकाई गेंदबाजी की कमर तोड़ दी। इस टी20 मुकाबले में उनके बल्ले से कुल 145 रन निकले जो इंटरनेशनल टी20 का सबसे बड़ा स्कोर भी है। इस पारी के दौरान मैक्सवेल ने 14 चौके और 9 गगनचुंबी छक्के भी जमाए। [Also Read: साल 2016 में वनडे क्रिकेट के सबसे सफल बल्लेबाज]

विराट कोहली 82* बनाम ऑस्ट्रेलिया, मोहाली:
टी20 विश्व कप में ऑस्ट्रेलिया के 161 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए 49 रनों पर रोहित शर्मा, शिखर धवन और सुरेश रैना को गंवा चुकी थी। ऐसे मुश्किल समय में एक बार फिर से कोहली ने अपनी ताकत का प्रदर्शन किया और अकेले दम पर मैच को ऑस्ट्रेलिया के हाथों से छीन कर भारत की झोली में डाल दिया। इस मैच में कोहली ने गजब की बल्लेबाजी करते हुए 82 रनों की नाबाद पारी खेलते हुए भारत को जीत दिलाने के बाद ही मैदान से बाहर गए।

मोहम्मद शहजाद 44 बनाम साउथ अफ्रीका:
अफगानिस्तान के विस्फोटक सलामी बल्लेबाज ने टी20 विश्व कप जैसे बड़े मंच पर साउथ अफ्रीका जैसी मजबूत टीम के सामने ऐसी पारी खेली की एक समय उनकी टीम बड़ा उलटफेर करती दिख रही थी। साउथ अफ्रीका के 210 रनों के विशाल स्कोर का पीछा करने उतरे शहजाद ने साउथ अफ्रीकी गेंदबाजों के खिलाफ आक्रमण की रणनीति अपनाई। शहजाद ने कगिसो रबाडा और काइल एबॉट जैसे गेंदबाजों की ऐसी धुलाई की मानों वह किसी क्लब स्तर के गेंदबाजों का सामना कर रहे थे। शहजाद की पारी की वजह से एक समय अफगानिस्तान ने 10 ओवरों में 105 रन बना लिये थे और मैच जीतते हुए दिख रहे थे। मगर शहजाद के आउट होने के बाद टीम लड़खड़ा गई और साउथ अफ्रीका ने खुद को उलटफेर का शिकार होने से बचा लिया।

वनडे:

क्विंटन डीकॉक 178 बनाम ऑस्ट्रेलिया, सेंचुरियन:
साल 2016 में क्विंटन डीकॉक गजब की फॉर्म में नजर आए और इस साल वनडे क्रिकेट का सबसे बड़ा स्कोर बनाया। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले वनडे मुकाबले में डीकॉक ने आक्रामक रूख अपनाते हुए ऑस्ट्रेलियाई आक्रमण की बखिया उधेड़ दी। ऑस्ट्रेलिया के 295 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए डीकॉक ने सिर्फ 113 गेंदों पर 178 रनों ठोक दिये। यह डीकॉक की पारी ही थी जिसकी वजह से साउथ अफ्रीका ने मैच को 36.2 ओवरों में ही खत्म कर दिया।

डेविड वार्नर 173 बनाम साउथ अफ्रीका, केपटाउन:
इस सीरीज के पहले मैच में डीकॉक ने ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों की बखिया उधेड़ी थी तो पांचवें वनडे में वही काम डेविड वार्नर ने साउथ अफ्रीकी गेंदबाजों के साथ किया। साउथ अफ्रीका के 328 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए कंगारू ओपनर ने 136 गेंदों पर 24 चौकों की मदद से 173 रन ठोक दिये। हालांकि वार्नर की इस बेहतरीन पारी के बावजूद ऑस्ट्रेलिया इस मैच को जीतने में नाकाम रही।

डेविड मिलर 118 बनाम ऑस्ट्रेलिया, डरबन:
ऑस्ट्रेलिया- साउथ अफ्रीका सीरीज कुछ बेहतरीन पारियों का गवाह बना। तीसरे वनडे में ऑस्ट्रेलिया ने डेविड वार्नर और स्टीवन स्मिथ के शानदार शतकों की बदौलत 371 रनों का पहाड़ सरीखा स्कोर खड़ा किया। जिसके जवाब में साउथ अफ्रीका एक समय 4 विकेट 179 के स्कोर पर गंवा कर संघर्ष कर रहा था। साउथ अफ्रीका को अब भी 25 ओवरों में लगभग 180 रन बनाने थे। ऐसे में डेविड मिलर ने साउथ अफ्रीका के लिए बेहतरीन पारी खेलते हुए जीत की पटकथा लिखी। मिलर ने छठें नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए मात्र 79 गेंदों पर 118 रनों की पारी खेल कर साउथ अफ्रीका को 4 गेंद रहते शानदार जीत दिलाई।

सरफराज अहमद 105 बनाम इंग्लैंड, लॉर्ड्स:
27 अगस्त को इंग्लैंड के खिलाफ खेले गए इस मुकाबले में सरफराज अहमद ने पाकिस्तान की बल्लेबाजी की बागडोर अकेले संभालते हुए लड़ाई लड़ी। इस मैच में सरफराज जब बल्लेबाजी करने उतरे तो पाकिस्तान 2 रन पर अपने 3 विकेट गंवा चुकी थी। सरफराज ने इसके बाद संघर्षपूर्ण पारी खेलते हुए पाकिस्तान को संभाला और टीम को सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाया। यह सरफराज की पारी ही थी जिसकी वजह से पाकिस्तान इस मैच में 251 रन बनाने में कामयाब हो पाई। हालांकि सरफराज की यह पारी टीम के काम नहीं आई और इंग्लैंड ने यह मैच 4 विकेट से जीत लिया।

इसके अलावा बहुत से बल्लेबाजों ने कुछ और बेहतरीन पारियां भी खेली। करुण नायर का तिहरा शतक, अजहर अली का तिहरा शतक, जो रूट का मैनचेस्टर में शानदार दोहरा शतक आदि भी इस लिस्ट में शामिल होने के दावेदार रहे।

trending this week