पूर्व भारतीय गेंदबाज अनिल कुंबले (Anil Kumble) का कहना है कि उन्हें कभी ये समझ नहीं आया कि उनकी तुलना ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज शेन वार्न (Shane Warne) से क्यों की जाती है।

कुंबले ने जिम्बाब्वे के पूर्व तेज गेंदबाज पॉमी एमबींगवा के साथ इंस्टाग्राम लाइव सेशन के दौरान ये बातें कही। उन्होंने कहा, “इतने विकेट के साथ अपना करियर खत्म करने मैं खुश हूं। मैंने कभी भी आंकड़ों की चिंता नहीं की, मैं पूरे दिन गेंदबाजी करना चाहता था और विकेट लेने चाहता। मुरली और वार्न के साथ टेस्ट क्रिकेट में सर्वाधिक विकेट लेने वाले गेंदबाजों की सूची में शामिल होना बेहद खास है।”

टीम इंडिया के पूर्व टेस्ट कप्तान ने कहा, “हम तीनों ने एक ही समय में क्रिकेट खेला, इसलिए काफी तुलना भी होती थी। मुझे नहीं पता कि लोग मेरी तुलना शेन वार्न से क्यों करते हैं। वार्न एकदम अलग था और एकदम अलग ही स्तर पर था। वो दोनों गेंद को किसी भी सतह पर स्पिन कर सकते थे इसलिए जब मेरी तुलना उनसे होने लगी तो मेरी मुश्किल बढ़ गई। मैंने उन्हें गेंदबाजी करते देख काफी कुछ सीखा था।”

पूर्व भारतीय गेंदबाज अनिल कुंबले श्रीलंका के मुरली मुरलीधरन और ऑस्ट्रेलिया के शेन वार्न के बाद टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज हैं। कुंबले ने 1990 से 2008 तक भारत के लिए खेले 132 टेस्ट मैचों में कुल 619 विकेट लिए। श्रीलंकाई दिग्गज मुरलीधरन 133 मैचों में 800 विकेट लेकर इस सूची में पहले नबंर पर हैं। 145 मैचों में 708 विकेट के साथ वार्न दूसरे स्थान पर काबिज हैं।