अनुभवी तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन (James Anderson) ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले टेस्ट में नहीं खेल पाएंगे। इंग्लैंड टीम 8 दिसंबर से ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ब्रिसबेन के द गाबा स्टेडियम में पहला एशेज टेस्ट खेलेगी। 39 साल के तेज गेंदबाज कॉफ इंजरी की वजह से बुधवार से शुरू होने वाले पहले एशेज टेस्ट मैच का हिस्सा नहीं होंगे।

हालांकि इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड (ECB) ने इस खबर की पुष्टि नहीं की है। एंडरसन की अनुपस्थिति इंग्लैंड को क्रिस वोक्स (Chris Woakes), मार्क वुड (Mark Wood), ओली रॉबिन्सन (Ollie Robinson), स्टुअर्ट ब्रॉड (Stuart Broad) और जैक लीच (Jack Leach) में से चार गेंदबाजों में से अपना अटैक चुनने पर मजबूर करेगी जो ऑलराउंडर बेन स्टोक्स के साथ खेलेंगे।

इंग्लैंड टीम पहले से ही बिना तेज गेंदबाज जोफ्रा आर्चर (Jofra Archer) के खेल रही है, जो कोहनी की चोट से ना उबरने की वजह से दौरे पर नहीं हैं वहीं ओली स्टोन (Ollie Stone) जो पीठ की सर्जरी के कारण एशेज स्क्वाड में जगह बनाने से चूक गए।

द क्रिकेटर ने कहा कि एंडरसन ने सोमवार को लगभग एक घंटे तक नेट्स में अभ्यास किया लेकिन 2019 एशेज में चार ओवर के बाद पूरी सीरीज से बाहर होने की याद अभी उनके जहन में ताजा हैं, ऐसे में बोर्ड ने एंडरसन को जोखिम में ना डालने का फैसला किया गया था।

ऑस्ट्रेलिया के मैच से पहले अपनी प्लेइंग इलेवन का ऐलान करने के बावजूद इंग्लैंड के कप्तान जो रूट ने अपनी टीम की घोषणा करने से इंकार कर दिया है।

उन्होंने कहा, “मैं माइंड गेम्स नहीं पसंद करता, मैं फिलहाल अपनी टीम चुनने की स्थिति में नहीं हूं। अच्छी बात है कि उन्होंने अपनी इलेवन को सार्वजनिक कर दिया है। इससे मुझे फर्क नहीं पड़ता ना ही मेरा दृष्टिकोण बदलता है। हम अपना काम वैसे करेंगे जैसे हमें करना है और आपको बताएंगे कि हम कब तैयार हैं।”

एंडरसन की उम्र को देखते हुए उनके सभी पांच टेस्ट खेलने की संभावना पहले ही कम थी। गाबा के बाद दूसरे टेस्ट एडिलेड में फ्लडलाइट्स के नीचे गुलाबी गेंद से खेला जाएगा। 16 दिसंबर से शुरू होने वाला ये मैच ब्रिस्बेन खत्म होने के ठीक चार दिन बाद शुरू होगा। एंडरसन ने ऑस्ट्रेलिया में खेले 18 टेस्ट में 35.43 की औसत से 60 विकेट लिए हैं, जो उनके 26.62 के करियर औसत से कम है।