BCCI has opposes ICC decision to convert 2021 Champions Trophy into T20I tournament

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड 2021 चैंपिंयंस ट्रॉफी को 50 ओवर के फॉर्मेट में टी20 में बदलने के आईसीसी के फैसले के खिलाफ है। बता दें कि 2020 में टी20 विश्व कप ऑस्ट्रेलिया में आयोजित किया जाना है, ऐसे में बोर्ड एक और टी20 टूर्नामेंट नहीं चाहता है। आईसीसी फिलहाल चैंपियंस ट्रॉफी को 20 ओवर के फॉर्मेट में बदलने पर विचार जरूर कर रही है लेकिन कुछ भी निश्चित नहीं हुआ है। 2013 और 2017 की चैंपियंस ट्रॉफी की सफलता के बाद आईसीसी अगले सीजन के लिए कुछ अलग करना चाहता है।

IPL 2018: इंडियन प्रीमियर लीग बना 'इंजर्ड प्रीमियर लीग', 10 खिलाड़ी हो चुके हैं बाहर
IPL 2018: इंडियन प्रीमियर लीग बना 'इंजर्ड प्रीमियर लीग', 10 खिलाड़ी हो चुके हैं बाहर

न्यू इंडियन एक्सप्रेस में छपी एक खबर के मुताबिक बीसीसीआई के एक अधिकारी ने कहा, “अगर ऐसा हुआ तो हम ऐसी स्थिति में आ जाएंगे जहां लगातार दो टी20 टूर्नामेंट खेलने होंगे। इसकी कोई जरूरत नहीं है, क्योंकि एक टूर्नामेंट हमे आयोजित करना है, इसका मतलब ये होगा कि अलग अलग नाम से 12 महीने के अंदर दो बड़े टी20 टूर्नामेंट होंगे। हम इसके दोबारा विचार करने के लिए कहेंगे।”

गौरतलब है कि विश्व कप टूर्नामेंट में जहां केवल 10 टीम खेलती हैं, वहीं चैंपियंस ट्रॉफी में केवल 8 टीमों को खेलने की इजाजत है। ऐसे में आईसीसी 16 टीमों वाले टी20 टूर्नामेंट पर भी चर्चा कर रही है। समिति का मानना है कि इससे एसोसिएट सदस्य देशों को काफी फायदा होगा। हाल ही में आयोजित हुए विश्व कप क्वालिफायर टूर्नामेंट के दौरान जिम्बाब्वे के कप्तान सिकंदर रजा ने एक भावुक बयान दिया था, जिसके बाद आईसीसी टूर्नामेंट में और टीमों को शामिल करने का मुद्दा एक बार फिर चर्चा का विषय बन गया था।