Cheteshwar Pujara: Will Be Surprised If Jaydev Unadkat Doesn’t Get India Call-up
Cheteshwar Pujara @Twitter

सौराष्ट्र और बंगाल के बीच रणजी ट्रॉफी 2019-20 फाइनल मुकाबला ड्रॉ जरूर हुआ लेकिन पहली पारी की बढ़त के आधार पर सौराष्ट्र पहली बार चैंपियन बनने में सफल रहा. तेज गेंदबाज जयदेवन उनादकट की कप्तानी में सौराष्ट्र पहली बार चैंपियन बनी. सौराष्ट्र को चैंपियन बनाने में उसके कप्तान का अहम रोल रहा जिन्होंने सेमीफाइनल और फाइनल के अलावा पूरे सीजन में बेहतरीन प्रदर्शन किया. उनादकट पूरे सीजन में कुल 67 विकेट अपने नाम किए.

कोरोनावायरस की वजह से चेन्नई सुपरकिंग्स का प्रैक्टिस सेशन स्थगित

चैंपियन बनने के बाद उनादकट के साथ प्रेस कांफ्रेंस में उनके दोस्त और सौराष्ट्र के साथी चेतेश्वर पुजारा बैठे थे जिन्होंने उनादकट के विचार का समर्थन किया. उनादकट ने कहा कि अह उनकी नजरें भारतीय टीम में वापसी पर है.

पुजारा ने कहा, ‘मैं सहमत हूं कि उनादकट ने पूरे सत्र में काफी अच्छी गेंदबाजी की. अगर किसी ने एक सत्र में 67 विकेट चटकाए हैं तो मुझे नहीं लगता कि ऐसा कोई है जो रणजी ट्रॉफी में इससे बेहतर प्रदर्शन कर सकता है. भारतीय टीम में चुने जाने के लिए रणजी ट्रॉफी के प्रदर्शन को भी काफी अहमियत दी जानी चाहिए. मुझे हैरानी होगी अगर उन्हें भारतीय टीम में नहीं चुना जाएगा.’

रणजी में 67 विकेट लेकर सौराष्ट्र को चैंपियन बनाने वाले उनादकट बोले-अब टीम इंडिया में वापसी पर नजर

उनादकट रणजी के एक सीजन में सर्वाधिक विकेट झटकने के रिकॉर्ड से सिर्फ एक विकेट दूर रह गए. हालांकि वह पहले ऐसे तेज गेंदबाज रहे जिन्होंने रणजी के एक सीजन में कुल 67 विकेट अपने नाम किए.