Coronavirus pandemic: Australian Cricketers Will Agree To Pay Cut; Says Tim Paine

ऑस्ट्रेलियाई टेस्ट टीम के कप्तान टिम पेन ने कहा है कि अगर वेतन कटौती के बारे में पूछा गया तो उनके साथी खिलाड़ी ‘लालच’ नहीं दिखाएंगे क्योंकि यह महत्वपूर्ण है कि कोविड-19 महामारी के प्रकोप के बावजूद भविष्य में खेल अच्छी प्रगति करे।

कोरोनावायरस के बढ़ते प्रकोप के कारण भारत के ऑस्ट्रेलिया दौरे और टी20 विश्व कप पर सवालिया निशान लग गया है। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया पहले ही अपने 80 प्रतिशत स्टाफ की छुट्टी कर चुका है और अब खिलाड़ियों के वेतन में संभावित कटौती को लेकर ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर्स संघ (एसीए) से बातचीत कर रहा है।

पेन ने एबीसी रेडियो से कहा, ‘यह जरूरी है कि खिलाड़ियों को खेल की वास्तविक वित्तीय स्थिति का पता चले और खिलाड़ी लालच नहीं दिखाने वाले। हमारी आजीविका, क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया और खिलाड़ी संघ से जुड़े सभी लोगों की आजीविका इस पर निर्भर करती है कि क्रिकेट का खेल फलता-फूलता रहे।’

‘बोर्ड की खराब वित्तीय हालत को लेकर हैरान नहीं हैं’

पेन ने कहा कि वह बोर्ड की खराब वित्तीय हालत को लेकर हैरान नहीं हैं। पेन ने कहा, ‘इसलिए अगर अभी वेतन में कटौती संभावित है और इससे भविष्य में हमारे खेल को फायदा होता है तो निश्चित तौर पर हम इस पर विचार करेंगे। मुझे लगता है कि व्यावसायिक रूप से भी प्रायोजकों को झटका लगा है और भविष्य में क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया पर भी इसका प्रभाव पड़ेगा।’

वैश्विक स्वास्थ्य संकट के कारण अगर भारतीय टीम ऑस्ट्रेलियाई दौरे पर नहीं जाती है तो क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया को 30 करोड़ ऑस्ट्रेलियाई डॉलर का नुकसान हो सकता है।

ऑस्ट्रेलिया की सीमाओं को 30 सितंबर तक सील किया गया है लेकिन भारतीय टीम के दौरे को बचाने की कवायद में सरकार अंतरराष्ट्रीय छूट देने पर विचार कर रही है जिससे कि टीम ऑस्ट्रेलिया आ सके।

‘भारत के दौरा नहीं करने की स्थिति में कोई वैकल्पिक योजना का पता नहीं’

पेन ने कहा कि उन्हें जानकारी नहीं है कि भारत के दौरा नहीं करने की स्थिति में कोई वैकल्पिक योजना बनाई गई है या नहीं। उन्होंने साथ ही उम्मीद जताई कि विराट कोहली और उनकी टीम पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार ऑस्ट्रेलिया आ पाएगी।

उन्होंने कहा, ‘मैं उम्मीद कर रहा हूं कि वे यहां आएंगे, इससे काफी समस्याओं का हल हो जाएगा। पेन कहा, ‘मुझे पता है कि संभावित कदमों को लेकर क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया और सरकार के बीच शुरुआती बातचीत हुई है जिसमें चार्टर्ड विमान की सेवा लेना और यहां पहुंचने पर उन्हें पृथक रखना शामिल है जिससे कि सुनिश्चित हो सके कि हम भारत को यहां ला पाएं।’

उन्होंने कहा, ‘इसके अलावा मैंने कुछ अटकलें सुनी हैं कि शायद न्यूजीलैंड यहां आ सकता है या हम वहां जा सकते हैं।’