© Getty Images
© Getty Images

दिलीप ट्रॉफी में इंडिया रेड और इंडिया ब्लू के बीच खेले जा रहे मुकाबले में इंडिया रेड के बल्लेबाज बाबा इंद्रजीत ने शानदार खेल दिखाया और दोहरा शतक जड़ा। इसके अलावा इंद्रजीत ने विजय गोहिल के साथ 10वें विकेट के लिए 178 रन जोड़कर इतिहास रच दिया। दोनों बल्लेबाजों ने आखिरी विकेट के लिए 178 रन जोड़े जो कि दिलीप ट्रॉफी के इतिहास में आखिरी विकेट के लिए दूसरी सबसे ज्यादा रनों की पार्टनरशिप है। 161 रनों पर 7 विकेट खोने के बाद इंडिया रेड की टीम संघर्ष करती नजर आ रही थी और लग रहा था कि टीम 200 रनों के अंदर ही सिमट जाएगी। ये भी पढ़ें: वापसी के बाद भी रोहित शर्मा नहीं भुला पाए हैं टीम से बाहर होने का ‘दर्द’

इंद्रजीत ने गोहिल के साथ मिलकर पारी को ना सिर्फ संभाला बल्कि टीम को मजबूत स्थिति में भी पहुंचा दिया। इंद्रजीत ने अपनी पारी में 20 चौके और 6 छक्के ठोके। वहीं गोहिल ने भी 34 रनों की पारी खेली और उन्होंने अपनी पारी में 6 शानदार चौके जड़े। दोनों बल्लेबाजों ने बेहतरीन तरीके से खेल दिखाया। दोनों बल्लेबाजों ने आखिरी विकेट के लिए 178 रनों की पार्टनरशिप करके दिलीप ट्रॉफी में दूसरी सबसे अच्छी पार्टनरशिप की। दोनों के बीच ये पार्टनरशिप दिलीप ट्रॉफी के इतिहास की दूसरी सबसे ज्यादा रनों की पार्टनरशिप है।

इस टूर्नामेंट में आखिरी विकेट के लिए सबसे ज्यादा रनों की पार्टनरशिप करने का रिकॉर्ड एके शर्मा और मनिंदर सिंह के नाम है। दोनों बल्लेबाजों ने 1991/92 में आखिरी विकेट के लिए 233 रनों की पार्टनरशिप की थी। आखिर में मनोज तिवारी ने इंद्रजीत को 200 रनों पर आउट कर इस पार्टनरशिप को तोड़ा। इंडिया रेड ने पहली पारी में 383 रन बनाए। जवाब में खबर लिखे जाने तक इंडिया ब्लू की टीम ने बिना कोई विकेट खोए 17 रन बना लिए हैं।