England will come back at us in Antigua after heavy defeat: Richard Pybus
West Indies captain Jason Holder with English captain Joe Root (AFP Image)

इंग्लैंड की टीम को वेस्टइंडीज के खिलाफ सीरीज के पहले मुकाबले में 381 रन की शर्मनाक हार झेलनी पड़ी। यह विंडीज टीम की इंग्लैंड पर क्रिकेट इतिहास की दूसरी सबसे बड़ी जीत थी। इस जीत के बाद भी टीम के कोच खिलाड़ियों को जीत पर इतराने की जगह संभलने की सलाह दे रहे हैं।

ब्रिजटाउन टेस्ट मैच में इंग्लैंड की पूरी टीम पहली पारी में महज 77 रन जबकि दूसरी पारी में 246 रन पर ढेर हो गई थी। विंडीज कप्तान जेसन होल्डर ने दूसरी पारी में शानदार दोहरा शतक बनाया था। पहली पारी में विंडीज गेंदबाज केमार रोच सात जबकि दूसरी पारी में रोस्टन चेज ने आठ विकेट हासिल किए थे।

पढ़ें:- विंडीज के खिलाफ हार के बाद रूट ने माना, टीम चुनने में हुईं गलतियां

इस ऐतिहासिक जीत के बाद विंडीज कोच रिचर्ड पायबस ने अपनी टीम से ज्यादा उत्साहित ना होकर पांव जमीन पर रखने की सलाह दी है। पायबस ने कहा, ”सिर्फ एक अच्छी जीत से बात नहीं बनती है। यह मेरा काम है कि टीम के खिलाड़ियों के पांच जमीन पर रहे इसका ध्यान रखूं। इस सीरीज के लिए हमारे पास एक लक्ष्य है और पहले टेस्ट से हमने इसकी तरफ कदम बढ़ाया है। लेकिन इंग्लैंड की टीम चोट कर सकती है। वो एक क्वालिटी साइड है और मेरे अंदर उनके लिए काफी सम्मान है। वो एंटीगुआ में हमारे खिलाफ वापसी करेंगे। उनके खिलाफ हमारे खेल का स्तर उच्च होना चाहिए।”

रोस्टन चेज ने टेस्ट मैच में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए 60 रन देकर आठ विकेट हासिल किए थे। उन्होंने कर्टली एंब्रोस (45/8) और पूर्व इंग्लिश तेज गेंदबाज एंगस फ्रेजर (53/8) सूची में अपना नाम अंकित करवाया।

पढ़ें:- ‘आपत्तिजनक लगता है कि लोग विंडीज से टेस्ट क्रिकेट छोड़ने को कहते हैं’

”चेज बेहद शानदार थे, उन्होंने वाकई बहुत ही शानदार गेंदबाज की। उनका नियंत्रण बहुत अच्छा था, चेज ने लाजवाब फील्डिंग सेट किया और इंग्लैंड की टीम पर लगातार दबाव बनाकर रखा। मुझे लगता है गेंदबाजी यूनिट द्वारा बनाया गया दबाव कमाल का था, ऐसा होता है जब आपकी टीम में चार तेज गेंदबाज हों। रोस्टन ने जबरदस्त गेंदबाजी की लेकिन जब दोनों तरफ से दबाव हो तो बल्लेबाजों के लिए मुश्किल हो जाता है।”