Everything you need know about India’s newest odi debutant Deepak chahar
Deepak Chahar (File Photo) © Getty Image

टीम इंडिया आज एशिया कप 2018 में सुपर-4 के अपने अंतिम मुकाबले में दुबई में अफगानिस्‍तान के खिलाफ खेलने के लिए उतरी है। पाकिस्‍तान और बांग्‍लादेश को मात देने के बाद टीम इंडिया ने फाइनल में अपनी जगह पक्‍की कर ली है। जिसे देखते हुए आज के मैच में कुल पांच बदलाव किए गए हैं।

दीपक चाहर को इस मैच में वनडे डेब्‍यू करने का मौका मिला है। वो वनडे में टीम इंडिया की तरफ से डेब्‍यू करने वाले 223वें खिलाड़ी बन गए हैं। उन्‍हें शार्दुल ठाकुर की जगह टीम में जगह दी गई है। मूल रूप से उत्‍तर प्रदेश के आगरा के रहने वाले दीपक चाहर ने अपने क्रिकेटिंग करियर की शुरुआत राजस्‍थान से की।

इंग्‍लैंड के खिलाफ निकाले थे सबसे ज्‍यादा विकेट

दीपक चाहर भले ही इस मैच में अपना डेब्‍यू कर रहे हैं, लेकिन घरेलू क्रिकेट में उनका नाम नया नहीं है। दीपक चाहर इसी साल इंडिया ए की तरफ से इंग्‍लैंड दौरे पर गए थे, जहां उन्‍होंने इंडिया ए के लिए सर्वाधिक विकेट निकाले थे। टूर्नामेंट के दौरान उनके नाम कुल 16 विकेट रहे। आईपीएल 2018 के दौरान दीपक चाहर चेन्‍नई सुपर किंग्‍स की तरफ से खेले थे।

पहले ही रणजी ट्रॉफी मुकाबले में निकाले थे आठ विकेट

दीपक चाहर ने साल 2010 में रणजी ट्रॉफी में डेब्‍यू किया था। उन्‍हें राजस्‍थान की तरफ से  हैदराबाद के खिलाफ खेलने का मौका मिला। अपने पहले ही मुकाबले में चाहर ने 10 रन देकर आठ विकेट निकाले, जिसकी मदद से हैदराबाद 21 रन पर ही ऑलआउट हो गई। ये रणजी ट्रॉफी के इतिहास का सबसे छोटा स्‍कोर भी है।

ग्रेग चैपल ने 2008 में चाहर की प्रतिभा को नकार दिया था

रणजी ट्रॉफी के डेब्‍यू मैच में चाहर का शानदार प्रदर्शन इसलिए भी अहम है क्‍योंकि साल 2008 में भारतीय टीम के पूर्व कोच रह चुके ग्रेग चैपल ने दीपक चाहर की प्रतिभा को नकार दिया था। उस वक्‍त ग्रेग चैपल राजस्‍थान क्रिकेट एसोसिएशन अकादमी का संचालन कर रहे थे।

चाहर चोट के कारण रहे थे परेशान

साल 2010 में करियर के शुरुआती दिनों में ही शानदार प्रदर्शन के कारण चर्चा में आए दीपक चाहर ज्‍यादा दिन तक सुर्खियों में नहीं रह सके। इसकी मूल वजह थी उनका बार-बार चोटिल होना। दीपक चाहर ने चोट से उबरते हुए एक बार फिर घरेलू क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन किया। जिसके बाद उन्‍हें आईपीएल और फिर इंडिया ए की टीम में खेलने का मौका मिला