Freezing up during my one and only Boxing Day Test is one of the biggest regrets, says Brad Hodge
Brad Hodge (AFP Image)

पूर्व ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर ब्रैड हॉज ने बयान दिया कि अपने पहले और आखिरी बॉक्सिंग डे टेस्ट में अच्छा ना खेल पाने का उनके करियर का सबसे निराशाजनक था। हॉज ने साल 2005 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ बॉक्सिंग डे टेस्ट खेला था। जहां वो पूरी तरह से असफल रहे थे।

एसईएन रेडियो से बातचीत में हॉज ने कहा, “ये सपने के पूरे होने जैसा था लेकिन ये मेरे क्रिकेट करियर का सबसे बड़ा पछतावा भी था। उस दिन मैंने वास्तव में नहीं खेला और उस तरह खेलने की हिम्मत नहीं जुटा पाया, जैसे मैं खेलना चाहता था।”

‘अगर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज हारता है भारत तो करने होंगे बड़े बदलाव’

गौरतलब है बॉक्सिंग डे टेस्ट से पहले हॉज ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीसरे टेस्ट में दोहरा शतक जड़ा था। हर जगह उनकी पारी की चर्चा थी और उन पर बड़ा स्कोर बनाने का दबाव था। इस बारे में हॉज ने कहा, “बॉक्सिंग डे टेस्ट से पहले हो रही चर्चा मेरे लिए बहुत कठिन थी और मेरे साथ ऐसा पहले नहीं हुआ था। मैं पर्थ में 200 रन बनाकर आ रहा था, मुझ पर मीडिया का ध्यान था, परिवार का ध्यान था, मुझे खेल से भटकाने के लिए हर तरह की चीज थी।”

टीम इंडिया 3-1 से टेस्ट सीरीज जीतेगी: वीवीएस लक्ष्मण

हॉज ने आगे कहा, “मैं शायद इन सब चीजों का सामना करने में सक्षम नहीं था। जब खेल खत्म हो गया, तो मैंने रिकी (पोंटिंग) से पूछा कि उसने ये कैसे किया। मैं उसके तरीके का दोहराने की कोशिश की, जिसमें वो सफल रहा था, लेकिन मैं बहुत बुरी तरह से विफल रहा। जिन चीज़ों से मुझे प्यार था, उनमें से एक बॉक्सिंग डे टेस्ट में एक बड़ी पारी खेलना शामिल था।”