I felt most insecure in this IPL, tournament should have been held in UAE: Adam Zampa
एडम जम्पा विराट कोहली (BCCI)

इंडियन प्रीमियर लीग के 14वें सीजन से नाम वापस ले चुके ऑस्ट्रेलियाई लेग स्पिनर एडम जम्पा ने बताया कि उन्होंने टूर्नामेंट से पीछे हटने का फैसाल लिया क्योंकि वो अब तक जितने भी बायो सिक्योर माहौल का हिस्सा रहे उनमें ये ‘सबसे असुरक्षित’ था। जम्पा ने ये भी माना कि टूर्नामेंट का आयोजन पिछले साल की तरह यूएई में ही होना चाहिए था।

रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर की टीम में शामिल जम्पा और केन रिचर्डसन ने निजी कारणों का हवाला देकर मंगलवार को स्वदेश लौटने की तैयारी कर ली है। जंपा ने सिडनी मॉर्निंग हेराल्ड से कहा कि वो यूएई में कहीं ज्यादा सुरक्षित महसूस कर रहे थे जहां पिछले साल टूर्नामेंट का आयोजन हुआ था।

जम्पा ने कहा, ‘‘हम अब तक कुछ जैविक रूप से सुरक्षित माहौल का हिस्सा रह चुके हैं और मुझे लगता है कि ये संभवत: सबसे असुरक्षित है। मुझे लगता है कि ऐसा भारत में होने के कारण है, हमें यहां साफ सफाई के बारे में हमेशा बताया जाता है और अतिरिक्त सतर्कता बरतनी होती है। मुझे लगा कि यहां सबसे अधिक असुरक्षित था।’’

IPL 2021 से हटने के बाद मुंबई में फंसे जम्पा-रिचर्डसन; आज रात तक ऑस्ट्रेलिया पहुंचने की उम्मीद

इस लेग स्पिनर ने कहा, ‘‘आईपीएल का आयोजन छह महीने पहले दुबई में हुआ था तो हमने वहां बिलकुल भी ऐसा महसूस नहीं किया। मैंने वहां बेहद सुरक्षित महसूस किया। निजी तौर पर मुझे लगा कि इस आईपीएल के लिए भी ये बेहतर विकल्प होता लेकिन बेशक इससे काफी राजनीति भी जुड़ी थी। बेशक इसी साल यहां टी20 विश्व कप भी होना है। संभवत: क्रिकेट जगत में अब अगली चर्चा इसी पर होगी। छह महीने लंबा समय है।’’

मौजूदा सीजन में जंपा को एक भी मैच खेलने को नहीं मिला है। उन्होंने कहा, ‘‘बेशक यहां कोविड से जुड़ी स्थिति बेहद खराब है। बेशक मुझे टीम में खेलने का मौका भी नहीं मिला, मैं ट्रेनिंग के लिए जा रहा था और मुझे कोई प्रेरणा नहीं मिल रही थी। कुछ और चीजें भी थी जैसे बायो सिक्योर बबल की थकान और स्वदेश जाने वाली उड़ानों से जुड़ी खबरें। मुझे लगा कि ये फैसला करने का सर्वश्रेष्ठ समय है।’’

उन्होंने आगे कहा, ‘‘काफी लोग कह रहे हैं कि क्रिकेट से कुछ लोगों को राहत मिल सकती है लेकिन ये काफी निजी विचार है। अगर किसी के परिवार का सदस्य मौत से जूझ रहा है तो वो संभवत: क्रिकेट के बारे में परवाह नहीं करता। निश्चित तौर पर टूर्नामेंट के बीच से जाने से वित्तीय नुकसान होगा लेकिन मैं अपने मानसिक स्वास्थ्य को आगे रखना चाहता हूं।’’