हार्दिक पंड्या को हाल ही में वनडे में पदार्पण करने का मौका मिला था © Getty Images
हार्दिक पंड्या को हाल ही में वनडे में पदार्पण करने का मौका मिला था © Getty Images

साल 2016 में जिस तरह से हार्दिक पंड्या को मौके मिल रहे हैं वो शायद ही किसी खिलाड़ी को मिले होंगे। बड़ौदा के पंड्या ने पहले साल 2016 के शुरुआत में टी-20 में अपना पदार्पण किया इसके बाद पंड्या को एशिया कप टी-20 और फिर विश्वकप टी-20 में खेलने का मौका मिला। पंड्या यहीं नहीं रुके उन्हें इसके बाद चयनकर्ताओं ने न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे मैचों में खेलने का मौका दिया और अब पंड्या टेस्ट में भी अपना पदार्पण कर सकते हैं। चयनकर्ताओं ने पंड्या को इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज में टम में शामिल कर लिया है। हाल ही में न्यूजीलैंड के खिलाफ अगर पहले वनडे को छोड़ दें तो पंड्या का प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा था। लेकिन टेस्ट में मौका मिलने के बाद पंड्या काफी उतसाहित दिखे।

टीम में चयन होने के बाद पंड्या ने कहा ‘मैं खुद को बहुत ही खुदकिस्मत और भाग्यशाली समझ रहा हूं। देश के लिए टेस्ट क्रिकेट खेलना हर खिलाड़ी का सपना होता है। मेरा सौभाग्य है कि मुझे नंबर एक टेस्ट टीम का हिस्सा होने का अवसर प्राप्त हुआ है। मैं चयनकर्ताओं और उन सभी का शुक्रगुजार हूं जिन्होंने मेरे लिए दुआएं कीं और मुझपर विश्वास किया।’ ये भी पढ़ें: आईसीसी चैंपिंयंस ट्रॉफी 2002 में जब भारत ने दक्षिण अफ्रीका को दी थी रोमांचक शिकस्त

‘एकदिवसीय मुकाबलों में खेलना बेहद ही खास अनुभव रहा और मुझे न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज से काफी कुछ सीखने को मिला। धोनी, कोहली और कुंबले की देखरेख में मैंने खुद को निखारा है। मैं जानता हूम मुझसे लोगों को बहुत उम्मीदें हैं। मैं मैच दर मैच अच्छा खेल कर अपने आपको साबित करना चाहूंगा और मिले हुए मौकों का फायदा उठाना चाहूंगा। इंग्लैंड जैसी सशक्त टीम के खिलाफ खेलना एक चुनौती होगी और मैं इससे बहुत कुछ सीख भी सकूंगा।’

टीम का ऐलान करने के बाद चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने कहा ‘हमें उसके हरफनमौला खेल पर भरोसा है, अगर पंड्या को देखें तो उनकी गेंदबाजी में पहले से ज्यादा तेजी देखने को मिली है। पंड्या ने न्यूजीलैंड के खिलाफ हरफनमौला खेल दिखाया था और वह इंग्लैंड के खिलाफ भी बेहतरीन प्रदर्शन करेंगे।’  ये भी पढ़ें: इंग्लैंड टीम के ये पांच खिलाड़ी भारत के लिए बन सकते हैं मुसीबत

प्रसाद ने आगे कहा कि हम सभी पंड्या में अगला कपिल देव ढूंढने की कोशिश कर रहे हैं। अगर हम तीन स्पिन गेंदबाजों के साथ खेलते हैं तो वह टीम में दूसरे तेज गेंदबाज के तौर पर खेल सकते हैं जो टीम के लिए बल्लेबाजी भी कर सकते हैं।