स्टीवन स्मिथ © AFP
स्टीवन स्मिथ © AFP

स्टीवन स्मिथ ने मौजूदा सीजन में राइजिंग पुणे सुपरजायंट की सफलता का श्रेय टीम के युवा खिलाड़ियों को दिया है। राइजिंग पुणे सुपरजायंट रविवार को आईपीएल 10 के फाइनल में मुंबई इंडियंस के खिलाफ भिड़ेगी। यह उसका आईपीएल में अंतिम मैच हो सकता है क्योंकि आईपीएल की गवर्निंग काउंसिल ने अगले संस्करण के लिए उनकी सदस्यता को नवीकृत नहीं किया है। टूर्नामेंट की शुरुआत पुणे के लिए खराब रही थी लेकिन बाद में उन्होंने लय हासिल की और प्वाइंट टेबल में नंबर दो होते हुए प्लेऑफ में प्रवेश किया और प्लेऑफ में मुंबई इंडियंस को हराते हुए फाइनल में प्रवेश किया।

राइजिंग पुणे सुपरजायंट के लिए भारतीय घरेलू सितारों राहुल त्रिपाठी, वॉशिंगटन सुंदर और यहां तक कि मनोज तिवारी ने बेहतरीन प्रदर्शन किया। इनमें त्रिपाठी सबसे आगे रहे। उन्होंने 13 मैचों में 388 रन बनाए और इस मामले में स्टीवन स्मिथ(421 रन) से ही पीछे हैं। क्वालीफायर 1 में मुंबई इंडियंस के खिलाफ सुंदर ने मैच जिताऊ प्रदर्शन किया था। उन्होंने चार ओवरों में 16 रन देकर 3 विकेट झटके थे।

स्मिथ ने हैदराबाद में मीडिया को बताया, “वे काफी युवा हैं और वो बड़े दबाव वाले फाइनल नहीं खेले हैं। इससे आप को मदद मिल सकती है। वे स्वतंत्रता के साथ खेलते हुए अपने काम को अंजाम दे सकते हैं।” स्मिथ ने आगे कहा, “मुंबई के खिलाफ वॉशिंगटन उस मैच में शानदार नजर आए थे। 17 साल के युवा खिलाड़ी का बेहतरीन बल्लेबाजों के खिलाफ इस तरह का प्रदर्शन करना वह बेहतरीन था। इस सीजन में हमारी सफलता में युवाओं का बड़ा योगदान रहा है और हम उम्मीद करते हैं कि वे फाइनल में भी अच्छा प्रदर्शन करेंगे।”[ये भी पढ़ें: मुंबई इंडियंस बनाम राइजिंग पुणे सुपरजायंट(प्रिव्यू): इतिहास रचना चाहेगी मुंबई इंडियंस]

स्मिथ ने टीम के कोच स्टीफन फ्लैमिंग और पूर्व कप्तान एमएस धोनी के योगदान को भी श्रेय दिया। स्मिथ ने कहा, “फ्लैमिंग और जाहिर तौर पर धोनी के साथ काम करके मजा आया। इस दौरान हमने काफी बढ़िया क्रिकेट खेली है जो फाइनल की ओर जाने के हिसाब से बेहतर है।”