IPL Governing Council Meeting: कोविड-19 महामारी के कारण इंडियन प्रीमियर लीग 2020 (IPL 2020)के 13वें एडिशन का आयोजन देश से बाहर यान संयुक्त अरब अमीरात (UAE)किया जा रहा है. टूर्नामेंट 19 सितंबर से आठ नवंबर के बीच खेला जाएगा. आईपीएल की संचालन परिषद की बैठक 2 अगस्त को हो सकती है जिसमें इस साल यूएई में आयोजित की जाने वाली प्रतियोगिता के कार्यक्रम को अंतिम रूप दिया जाएगा और अन्य व्यवस्थाओं पर चर्चा की जाएगी.

बैठक के बाद फ्रेंचाइजी को SOP (मानक संचालन प्रक्रिया) सौंप दी जाएगी

बीसीसीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने गोपनीयता की शर्त पर पीटीआई-भाषा से कहा, ‘आईपीएल संचालन परिषद की बैठक दो अगस्त को हो सकती है. उम्मीद है कि बैठक के बाद फ्रेंचाइजी को एसओपी (मानक संचालन प्रक्रिया) सौंप दी जाएगी.’

सौरव गांगुली, जय शाह भी हो सकते हैं शामिल 

इस बैठक में बीसीसीआई के शीर्ष पदाधिकारियों के भाग लेने की संभावना है जिसमें अध्यक्ष सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) और सचिव जय शाह (Jay Shah) भी शामिल है. इसमें विभिन्न हितधारकों से जुड़े मसलों पर चर्चा होगी.

गांगुली और शाह का कार्यकाल समाप्त हो चुका है 

गांगुली और शाह का कार्यकाल समाप्त हो चुका है लेकिन इन दोनों ने लोढ़ा समिति के विश्राम काल (कूलिंग ऑफ पीरियड) की शर्तों में छूट देने के लिये उच्चतम न्यायालय में अपील की है जिसमें 17 अगस्त को इस पर सुनवाई होगी.

इस आईपीएल (IPL) में एक दिन में दो मैचों का आयोजन कम होगा जिससे प्रसारकों को फायदा होगा. मैचों का आयोजन खाली स्टेडियमों में जैव सुरक्षित वातावरण में किया जाएगा और ऐसे में फ्रेंचाइजी को ‘गेट मनी’ से होने वाले नुकसान भी चर्चा होगी.

संभावना है कि अधिकतर फ्रेंचाइजी अपने जांच दलों को यूएई भेजकर वहां की सुविधाओं और जैव सुरक्षित वातावरण का आकलन करेंगे.

खिलाड़ियों को परिवारों को साथ में ले जाने की अनुमति पर भी होगी चर्चा 

एक अन्य मसला खिलाड़ियों को परिवारों को साथ में ले जाने की अनुमति देने से जुड़ा होगा. एक फ्रेंचाइजी के आला अधिकारी ने कहा कि दो महीने के लिए खिलाड़ियेां को उनकी पत्नियों या परिवार से दूर रखना गलत होगा.

उन्होंने कहा ,‘सामान्य समय पर पत्नियां या महिला मित्र खिलाड़ियों के साथ आ सकती हैं लेकिन अभी हालात अलग हैं. यदि परिवार भी साथ जाता है तो वह होटल के कमरे में रहेगा या सामान्य तौर पर आ जा सकेगा. उन्होंने कहा ,‘कुछ खिलाड़ियों के छोटे बच्चे भी हैं तो उन्हें दो महीने तक कमरे में कैसे रखेंगे.’