Mahi bhai has made me a powerplay bowler: Deepak Chahar
दीपक चाहर, महेंद्र सिंह धोनी (Twitter)

सीमित ओवर फॉर्मेट में टीम इंडिया के शानदार पेस अटैक का हिस्सा बने दीपक चाहर अपनी सफलता का श्रेय पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को देते हैं। इंडियन प्रीमियर लीग में चेन्नई सुपर किंग्स में खेलने वाले चाहर का कहना है कि कप्तान धोनी ने उन्हें पावरप्ले गेंदबाज बनाया है।

टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए इंटरव्यू में उन्होंने कहा, “माही भाई की कप्तानी में खेलना मेरा बहुत पुराना सपना था। उनकी कप्तानी में मैंने बहुत कुछ सीखा है। उनके मार्गदर्शन में मेरा खेल अलग ही स्तर पर पहुंचा है। मेरी टीम में ऐसा कोई नहीं है जो पावरप्ले में तीन ओवर डालता। मैं ऐसा करता हूं, माही भाई के कहने पर।”

चाहर ने कहा, “पहले ओवर में गेंदबाजी करना आसान काम नहीं है। समय के साथ, मैंने सुधार किया है और रनों की गति को नियंत्रित करना सीखा है, खासकर टी20 में।”

भारत के श्रीलंका दौरे की तैयारी कर रहे चाहर ने कहा, “माही भाई ने मुझे पावरप्ले गेंदबाज बनाया। वो हमेशा कहते हैं ‘तू मेरा पावरप्ले गेंदबाज है’, वो ज्यादातर समय मुझे पहला ओवर देते हैं। उन्होंने मुझे बहुत डांटा है लेकिन मुझे पता है कि वो बातें और उनका मार्गदर्शन मेरे भले के लिए है और इससे मुझे बतौर गेंदबाज आगे बढ़ने में मदद मिली है। वो अपने खिलाड़ियों को अच्छे से जानते हैं और उन्हें समझदारी से इस्तेमाल करते हैं। उन्हें पता है कि कौन डेथ ओवरों में अच्छा है, कौन पावरप्ले में सही है और कौन बीच के ओवरों में अच्छा है।”

World Test Championship फाइनल जीते बगैर भारत ट्रॉफी पर जमा लेगा कब्जा, जानिए कैसे?

भारत के लिए 2 वनडे और 18 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेल चुके चाहर की ख्वाहिश टेस्ट क्रिकेट खेलने की है। उन्होंने कहा, “टेस्ट क्रिकेट खेलना मेरा सपना है। मुझे पता है कि गेंद को कैसे स्विंग कराते हैं और स्विंग वाले हालात मुझे सूट करते हैं।”

चाहर ने आगे कहा, “टेस्ट टीम इंग्लैंड जा रही है। मैं उन्हें शुभकामनाएं देता हूं। इंग्लैंड में गेंदबाजी करने का अलग मजा है। मैं इंग्लैंड में खेला हूं और वहां गेंदबाजी करने का मजा लिया है। मुझे यकीन है कि चयनकर्ता मुझे एक दिन मौका जरूर देंगे। मैंने वनडे, टी20 खेले हैं और खुद को इन दोनों फॉर्मेट में साबित किया है और मुझे उम्मीद है कि मैं एक दिन टेस्ट टीम में जगह बनाऊंगा। मैं देश के लिए टेस्ट क्रिकेट खेलने का इंतजार कर रहा हूं।”