Mehidy Hasan: Will try to give my best so that it can cover up the lack of leg spinner
मेहंदी हसन (AFP)

मौजूदा क्रिकेट में जहां सीमित ओवर फॉर्मेट में लेग स्पिनरों का दबदबा बना हुआ है, वहां बांग्लादेश टीम बिना किसी लेग स्पिनर के विश्व कप खेलने इंग्लैंड पहुंची है। ऐसे में टीम के एकलौते स्पिनर मेहदी हसन पर बड़ी जिम्मेदारी होगी, जिसे निभाने के लिए वो तैयार हैं।

अभ्यास मैच से पहले हसन ने कहा, “अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट का दबाव तो हमेशा रहता है और मैं इस टूर्नामेंट को इस चुनौती की तरह देख रहा हूं कि मैं इन हालात में कितना अच्छा खेल सकता हूं। टीम मैनेजमेंट ने मुझ पर भरोसा दिखाया है और मुझे इसे चुकता करना होगा। चूंकि टीम में कोई लेग स्पिनर नहीं है, मैं उसकी कमी पूरी करने की पूरी कोशिश करूंगा।”

इंग्लिश पिचों पर बतौर स्पिनर अपने गेंदबाजी प्लान के बारे में उन्होंने कहा, “इस तरह के हालात में सबसे जरूरी है बल्लेबाज को रोकना और दूसरे गेंदबाजों की मदद करना। अगर मैं रनों की रफ्तार को रोक सकूंगा तो दूसरे छोर के विकेट गिरेंगे। इसलिए मेरा लक्ष्य इस तरह गेंदबाजी करने का है जिससे की मैं बल्लेबाज को बांध सकूं।”

वर्ल्‍ड कप में अपनी विरासत को फिर से तैयार करने की चुनौती: जेसन होल्‍डर

बांग्लादेश टीम आज पाकिस्तान के खिलाफ कार्डिफ में अपना पहला वार्म अप मैच खेल रही है और 28 मई को भारत के खिलाफ दूसरा मैच खेलेगी। मेहदी इन अभ्यास मैचों की अहमियत को अच्छे से समझते हैं।

उन्होंने कहा, “दोनों ही अभ्यास मैच अहम है। अभ्यास मैचों के बाद हम हालात को बेहतर तरीके से समझ सकते हैं और उसके हिसाब से खुद को ढाल सकते हैं। ये जरूरी है क्योंकि हम विदेशी हालातों को यूं ही नहीं परख सकते हैं। सभी मैच अहम हैं, हम किसी को भी कमजोर नहीं समझ रहे हैं क्योंकि अगर हम अभ्यास मैच में अच्छा कर सकते हैं तो हम टूर्नामेंट में खेलते हुए कम दबाव महसूस करेंगे।”

पढ़ें: उम्रदराज लसिथ मलिंगा पर टिकी हैं श्रीलंका की उम्मीदें

हसन ने आगे कहा, “विश्व कप मैच हाई वोल्टेज होंगे, इसलिए हमें अपने आपको अभ्यास मैचों में पूरी तरह तैयार करना होगा। अगर आप मैच जीतते हैं तो आत्मविश्वास बढ़ेगा और हम इन मैचों को हल्के में नहीं ले रहे है। हम पाकिस्तान के खिलाफ अपना 100 प्रतिशत देंगे और अगर हम मैच जीतते हैं तो आत्मविश्वास बढ़ेगा।”