Mohammed Shami-Ashok Dinda guide Bengal to an innings victory against Chhattisgarh
मोहम्मद शमी © Getty Images

रणजी ट्रॉफी 2017-18 के राउंड दो के चौथे दिन सभी मैचों कै नतीजा आ गया। ईशांत शर्मा की कप्तानी में मनन शर्मा के शानदार ऑलराउंड प्रदर्शन की मदद से दिल्ली ने रेलवे को एक पारी और 105 रनों से हराया। वहीं झारखंड बनाम राजस्थान मैच ड्रॉ रहा। हालांकि पहली पारी में बढ़त की वजह से राजस्थान को 3 जबकि झारखंड को केवल एक अंक मिला। इस मैच में झांरखंड के ईशांक जग्गी और नाजिम सिद्दिकी ने शानदार शतक जड़े।

बंगाल बनाम छत्तीसगढ़: मोहम्मद शमी और अशोक डिंडा की शानदार गेंदबाजी के दम पर बंगाल ने रणजी ट्रॉफी ग्रुप डी क्रिकेट मैच में चौथे दिन छत्तीसगढ़ को पारी और 160 रन से हराया। छत्तीसगढ़ ने फॉलोऑन के बाद दूसरी पारी में केवल 229 रन बनाये। अभिमन्यु चौहान ने सर्वाधिक 115 रन बनाये। शमी ने दूसरी पारी में 61 रन देकर छह विकेट लिये जबकि पहली पारी में 21 रन देकर सात विकेट लेने वाले डिंडा ने दूसरी पारी में 26 रन देकर तीन विकेट हासिल किये। दोनों पारियों में 47 रन देकर कुल दस विकेट लेने वाले डिंडा को मैन आफ द मैच चुना गया। [ये भी पढ़ें: रणजी ट्रॉफी 2017-2018: झारखंड के खिलाफ राजस्थान ने इस्तेमाल किए 10 गेंदबाज]

कर्नाटक बनाम असम: कर्नाटक ने ग्रुप ए मैच के चौथे और अंतिम दिन असम को पारी और 121 रन से हराकर सात अंक हासिल किए। इस जीत से कर्नाटक की टीम अंकतालिका में दूसरे स्थान पर आ गई है। वहीं दिल्ली की टीम दो मैचों में 10 अंक के साथ शीर्ष पर है। असम की टीम पहली पारी में 145 रन ही बना सकी थी जिसके जवाब में कर्नाटक ने सात विकेट पर 469 रन बनाने के बाद पारी घोषित की थी। पहली पारी में 324 रन से पिछड़ी असम की टीम दूसरी पारी में भी 203 रन पर ढेर हो गई। कर्नाटक की ओर से गोपाल शर्मा ने सर्वाधिक 66 रन बनाए। आर विनय कुमार ने 31 रन देकर चार जबकि अभिमन्यु मिथुन और गौतम ने तीन-तीन विकेट चटकाए।

गुजरात बनाम केरल: गुजरात ने रणजी ट्रॉफी ग्रुप बी मैच में केरल को चार विकेट से हराया। चौथे दिन गुजरात के सामने 105 रन का लक्ष्य था। गुजरात ने छह विकेट पर 108 रन बनाकर मैच जीत लिया। एक समय टीम का स्कोर छह विकेट पर 81 रन था और केरल ने मैच में दबाव बना दिया था लेकिन कप्तान पार्थिव पटेल (नाबाद 18) और चिराग गांधी (नाबाद 11) ने टीम को लक्ष्य तक पहुंचाया। केरल की तरफ से अक्षय चंद्रन और जलज सक्सेना ने 2-2 विकेट लिये। [ये भी पढ़ें: रणजी ट्रॉफी 2017-18: ईशांत शर्मा की कप्तानी में दिल्ली को मिली पहली जीत]

हिमाचल बनाम गोवा: सुमिरन अमोनकर और स्वप्निल असनोदकर के शतकों की मदद से गोवा ने हिमाचल प्रदेश के खिलाफ रणजी ट्रॉफी ग्रुप डी का मैच ड्रा कराया। पहली पारी में 370 रन से पिछड़ने के बाद गोवा पर हार का खतरा मंडरा रहा था। अमोनकर (137) और असनोदकर (167) ने पहले विकेट के लिये 299 रन की शानदार साझेदारी बनाई, जिसकी मदद से टीम ने दूसरी पारी में दो विकेट पर 411 रन बना लिए। जिसके बाद अंपायरों ने मैच ड्रा समाप्त घोषित कर दिया। कप्तान सगुन कामत 67 और अमोघ देसाई 35 रन बनाकर नाबाद रहे। गोवा ने अपनी पहली पारी में 255 रन बनाये थे जिसके जवाब में हिमाचल ने अपनी पारी सात विकेट पर 625 रन बनाकर समाप्त घोषित की थी। पहली पारी में बढ़त के आधार पर हिमाचल टीम को तीन अंक मिले जबकि गोवा को एक अंक से संतोष करना पड़ा।

तमिलनाडू बनाम त्रिपुरा: तमिलनाडु ने खराब मौसम से प्रभावित रणजी ट्रॉफी ग्रुप सी मैच में त्रिपुरा के खिलाफ पहली पारी की बढ़त के आधार पर तीन अंक हासिल किए। त्रिपुरा की पहली पारी के 258 रन के जवाब में तमिलनाडु ने अपनी चार विकेट पर 357 रन के स्कोर पर पारी घोषित कर दी थी। दूसरी पारी में जब 34 ओवर के बाद त्रिपुरा टीम ने तीन विकेट पर 91 रन बनाए थे तब अंपायरों ने मैच ड्रॉ घोषित किया। तमिलनाडु की तरफ से राहिल शाह ने दो जबकि वाशिंगटन सुंदर ने एक विकेट चटकाया।

मुंबई बनाम मध्यप्रदेश: मुंबई और मध्यप्रदेश के बीच रणजी ट्रॉफी ग्रुप सी का मैच ड्रॉ पर खत्म हुआ। मध्यप्रदेश ने अपनी पहली पारी में 409 रन बनाये थे और मुंबई ने कल ही आठ विकेट पर 415 रन बनाकर पहली पारी में बढ़त हासिल करके अपने तीन अंक सुनिश्चित कर दिये थे। मुंबई ने चौथे और अंतिम दिन दो विकेट गंवाने से पहले केवल 25 रन स्कोर 440 तक पहुंचाया। मध्यप्रदेश ने चौथे दिन 59 ओवरों में छह विकेट पर 145 रन बनाये थे, जिसके बाद अंपायरों ने मैच ड्रॉ करने क फैसला किया। नमन ओझा ने 123 गेंदों पर 38 रन बनाये जबकि अंकित शर्मा 52 रन बनाकर नाबाद रहे। मुंबई की तरफ से मिनाद मांजरेकर और विजय गोहिल ने 2-2 विकेट लिये।

(पीटीआई के इनपुट के साथ)