New Zealand Cricket to let go 15 percent of its staff to cover financial losses due to Covid-19
New Zealand Cricket Team @twitter

कोविड-19 वैश्विक महामारी के कारण दो महीने से क्रिकेट की लगभग सभी गतिविधियां ठप्प है। इस दौरान कई टीमों ने अपना दौरा रद्द किए। इसका प्रभाव इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 13वें एडिशन पर भी पड़ा जिसे अनिश्चितकाल तक के लिए टाल दिया गया है। कई क्रिकेट  बोर्ड को नुकसान का सामना करना पड़ा है।

भारत-ऑस्ट्रेलिया टेस्ट सीरीज के शेड्यूल का ऐलान; 3 दिसंबर को ब्रिसबेन में होगा पहला मैच

न्यूजीलैंड क्रिकेट (एनजेडसी) कोरोना वायरस महामारी से पैदा हुए आर्थिक संकट के चलते अपने स्टाफ में 10 से 15 प्रतिशत कटौती करके लागत में 60 लाख डॉलर की बचत करेगा।

न्यूजीलैंड क्रिकेट के मुख्य कार्यकारी डेविड वाइट ने बुधवार को कहा कि लागत में कटौती के उपायों के बाद ही बोर्ड छह प्रमुख संघों, जिलों और क्लबों को पैसा दे सकेगा और उसे पुरुष तथा महिला क्रिकेट के घरेलू कैलेंडर में भी कटौती नहीं करनी पड़ेगी।

उन्होंने स्थानीय मीडिया से कहा ,‘इस कटौती से हम 60 लाख डॉलर बचा सकेंगे। इससे खिलाड़ियों और प्रबंधन पर प्रभाव नहीं पड़ेगा।

न्यूजीलैंड टीम नवंबर में ऑस्ट्रेलिया की मेजबानी कर सकती है और ये मैच दर्शकों के बिना ही होंगे। इसके अलावा अगले साल फरवरी मार्च में यहां महिला विश्व कप भी होना है।

टी20 विश्व कप की जगह आईपीएल का आयोजन कराने के पक्ष में हैं पैट कमिंस

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) पहले ही अपने 80 प्रतिशत स्टाफ की छंटनी कर चुका है। भारतीय टीम अगर साल के आखिर में ऑस्ट्रेलिया दौरा नहीं करती है तो उसे 30 करोड़ डॉलर का नुकसान होगा।