Old MS Dhoni is back with a vengeance, says Allan Border
Mahendra Singh Dhoni © AFP (File Photo)

साल 2018 में खराब फॉर्म से जूझ रहे महेंद्र सिंह धोनी के लिए 2019 की शुरुआत बेहतरीन रही है। इस साल अपनी पहली ही वनडे सीरीज में धोनी ने लगातार तीन अर्धशतक लगाए और प्लेयर ऑफ द सीरीज का खिताब जीता। इस शानदार प्रदर्शन के लिए धोनी को पूर्व ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज एलेन बॉर्डर से भी सराहना मिली। बॉर्डर ने माना कि पुराने महेंद्र सिंह धोनी एक नए प्रतिशोध के साथ वापस लौटे हैं।

एएनआई से बातचीत में बॉर्डर ने कहा, “मुझे लगता है कि वनडे सीरीज बराबर की रही। ज्यादातर मैच एकदम संतुलित रहे। पुराना धोनी नए प्रतिशोध के साथ लौटा है, है ना? उसने बहुत अच्छा खेला, खासकर कि आखिरी मैच में जहां भारत ने जीत की रेखा पार की।”

ये भी पढ़ें: मेलबर्न में जीत के बाद धोनी ने कहा ‘गेंद ले लो वर्ना लोग कहेंगे कि संन्यास ले रहा है’

बॉर्डर ने कहा कि विश्व की नंबर एक टेस्ट टीम को अच्छा प्रदर्शन करते देखा हैरानी की बात नहीं थी लेकिन भारत का स्पिनर की बजाय तेज गेंदबाजों के दम पर मैच जीतना नया है।

तेज गेंदबाजी टीम इंडिया की नई ताकत

पूर्व खिलाड़ी ने कहा, “आईपीएल फैक्टर की वजह से हमने टी20 में उनके अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद की थी। वो एक अच्छी टी20 टीम हैं, वो टेस्ट में विश्व में नंबर पर बन हैं। इसलिए उन्हें अच्छा खेलते देखना हैरानी करने वाला नहीं था। जो चीज नई थी वो था भारत का तेज गेंदबाजी के दम पर जीतना जो कि उनके स्पिन गेंदबाजों की मदद से जीतने की परंपरा से बिल्कुल अलग था। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच होने वाली साधारण सीरीज से ये एकदम अलग था।”

ये भी पढ़ें: ‘लेम्बोर्गिनी से एस्टन मार्टिन बन गए हैं महेंद्र सिंह धोनी’

आमतौर पर स्पिन को उपमहाद्वीप टीमों की ताकत माना जाता है, वहीं गति और उछाल सेना देशों (दक्षिण अफ्रीका, इंग्लैंड, न्यूजीलैंड, ऑस्ट्रेलिया) का मजबूत पक्ष होता है। लेकिन टीम इंडिया ने नए पेस अटैक ने इस धारणा को बदल दिया है।

इस बारे में बॉर्डर ने कहा, “हम ऑस्ट्रेलिया में आपको तेज गेंदबाजों से हराएंगे और आप भारत में हमें स्पिनर्स से हराएंगे। ये यहां पर बिल्कुल बदल गया। विराट कोहली की नेतृत्व क्षमता शानदार थी और बाकी टीम भी बहुत अच्छा खेला। पुजारा को सलाम, टेस्ट मे उसने क्या शानदार प्रदर्शन किया।”