Ranji Trophy 2018-19, Elite A, Round 3, Day 3
Priyank Panchal © AFP (file image)

सलामी बल्लेबाज हार्विक देसाई (82) और कप्तान जयदेव शाह (नाबाद 81) की अर्धशतकीय पारियों से सौराष्ट्र ने रणजी ट्रॉफी ग्रुप ए के मैच में तीसरे दिन गुजरात पर पहली पारी में 25 रन की बढ़त हासिल की।

गुजरात के 324 रन के जवाब में सौराष्ट्र की टीम 349 रन पर आउट हो गई।

गुजरात ने दूसरी पारी में स्टंप्स तक कप्तान प्रियांक पंचाल के नाबाद 124 रन के बूते एक विकेट पर 187 रन बना लिए। गुजरात की कुल बढ़त 162 रन की हो गई है और उसके अभी 9 विकेट शेष हैं।

सौराष्ट्र ने तीसरे दिन की शुरुआत 221 रन पर तीन विकेट से की लेकिन गुजरात के सबसे सफल गेंदबाज सिद्घार्थ देसाई (93/3) ने शुरुआती ओवरों में ही दूसरे दिन के नाबाद बल्लेबाज हार्विक देसाई को पवेलियन वापस भेजा।

हार्विक ने 223 गेंद की पारी में 13 चौके और एक छक्का लगाया। कप्तान शाह ने 98 गेंद में सात चौके और दो छक्के की मदद से नाबाद 81 रन बनाए।

रावत के शतक से रेलवे को बढ़त

कप्तान महेश रावत (110) के शतक की मदद से रेलवे ने छत्तीसगढ़ पर पहली पारी में बढ़त बनाने के बाद दूसरी पारी में शुरू में ही उसे दो झटके देकर ग्रुप ए मैच पर अपनी पकड़ मजबूत कर ली।

रावत के शतक के अलावा प्रथम सिंह (66) और हर्ष त्यागी (55) के अर्धशतकों की मदद से रेलवे ने अपनी पहली पारी में 330 रन बनाए और इस तरह से छत्तीसगढ़ पर 30 रन की बढ़त बनाई। छत्तीसगढ़ की तरफ से पंकज राव ने 72 रन देकर पांच विकेट लिए।

छत्तीसगढ़ की दूसरी पारी की शुरुआत भी अच्छी नहीं रही। उसने तीसरे दिन का खेल समाप्त होने तक दो विकेट पर दो रन बनाये हैं। दोनों विकेट करण ठाकुर ने लिए हैं।

अच्छी शुरुआत के बाद विदर्भ की पारी लड़खड़ाई

सलामी बल्लेबाज आदित्य वाघमोडे (103) और कप्तान दीपक हुड्डा(100) की शतकीय पारियों और दोनों के बीच दूसरे विकेट के लिए 185 रन साझेदारी के बाद भी बड़ौदा की टीम ग्रुप ए के मैच में विदर्भ के खिलाफ सात विकेट पर 288 रन बनाए।

विदर्भ ने पहली पारी छह विकेट पर 529 रन पर घोषित की थी। बड़ौदा अब भी पहली पारी के आधार पर विदर्भ से 241 रन पीछे है और उसके तीन विकेट शेष है।

दिन की शुरुआत बिना किसी नुकसान के 41 रन से करने वाले बड़ौदा को अक्षय वाखरे (65/2) ने शुरुआत में दो झटके दिए जिससे टीम का स्कोर दो विकेट पर 55 रन हो गया।

इसके बाद वाघमोडे और हुड्डा ने 185 रन की साझेदारी से बड़ौदा को मजबूत स्थिति में ला दिया। इस जोड़ी के टूटते ही उनकी पारी लड़खड़ा गई और दिन का खेल खत्म होने तक उनके सात विकेट गिर गए।

स्टंप्स के समय पिनाल शाह 14 और सोएब ताइ तीन रन बनाकर खेल रहे थे। विदर्भ के लिए वाखरे के अलावा आदित्य सरवटे और ललित यादव को भी दो-दो सफलता मिली जबकि आदित्य ठाकरे ने एक विकेट लिया।

मोरे की घातक गेंदबाजी, मुंबई के खिलाफ कर्नाटक मजबूत

मध्यम गति के गेंदबाज रोनित मोरे के 5 विकेट की मदद से कर्नाटक ने ग्रुप ए मैच में मुंबई को 205 रन पर आउट करके पहली पारी में 195 रन की बढ़त बना ली है।

अपनी पहली पारी में 400 रन बनाने वाले कर्नाटक ने तीसरे दिन का खेल समाप्त होने तक अपनी दूसरी पारी में तीन विकेट पर 81 रन बनाए हैं और उसकी कुल बढ़त 276 रन हो गई है। स्टंप के समय केवी सिद्धार्थ 30 और स्टुअर्ट बिन्नी दो रन पर खेल रहे थे।

इससे पहले मुंबई ने सुबह दो विकेट पर 99 रन से आगे खेलना शुरू किया लेकिन उसने नियमित अंतराल में विकेट गंवाए। मुंबई की तरफ से जय बिस्टा ने सर्वाधिक 70 रन बनाए। कर्नाटक की तरफ से मोरे के अलावा एम प्रसिद्ध कृष्णा और एस गोपाल ने दो-दो विकेट लिए।