Ranji Trophy 2018-19, Round 4, Group C, Plate Group, Day 2
Suresh Raina (File Photo) © Getty Images

रणजी ट्रॉफी 2018-19 सीजन के चौथे राउंड में दूसरे दिन उत्‍तर प्रदेश की टीम राजस्‍थान के खिलाफ बेहद खराब स्थिति में है। सर्वाधिक 33 रन बनाने के बावजूद सुरेश रैना टीम को संकट से उबारने में विफल रहे। कार्तिक 208*(308) के दोहरे शतक की मदद से उत्‍तराखंड अरुणाचल प्रदेश के खिलाफ मजबूत स्थिति में नजर आ रहा है।

असम के अरूप दास ने पहली पारी में हरियाणा के पांच और दूसरी पारी में चार विकेट निकाल महज एक दिन में नौ विकेट अपने नाम किए। जम्‍मू कश्‍मीर के कप्‍तान परवेज रसूल ने आठ विकेट हॉल अपने नाम करने के साथ-साथ बल्‍लेबाजी के दौरान 53 रन बनाकर खेल रहे हैं। इसके बावजूद उनकी टीम सेना के खिलाफ हार के कागार पर है।

ग्रुप-सी

असम बनाम हरियाणा:

असम की टीम 215/6 से आगे खेलते हुए मैच के दूसरे दिन 310 रन पर ऑलआउट हो गई। गोकुल शर्मा 96(229) अपने शतक से महज चार रन से चूक गए। हरियाणा के पोनीष मेहता और जयंत यादव को 3-3 विकेट मिले। जवाब में हरियाणा की टीम 97 रन पर ही ऑलआउट हो गई। असम के अरूप दास ने पांच विकेट हॉल अपने नाम किया। फॉलोऑन पर खेलते हुए हरियाणा की दूसरी पारी भी लड़खड़ाती नजर आई। दूसरे दिन के अंत में हरियाणा का स्‍कोर दूसरी पारी में 78/7 रहा। वो अब भी असम के स्‍कोर से 135 रन पीछे हैं। दिन भर के दौरान हरियाणा के कुल 17 विकेट गिरे। असम के अरूप दास ने दूसरी पारी में भी चार विकेट निकाला। उन्‍होंने मैच के दूसरे दिन कुल नौ विकेट अपने नाम किए।

ओडिशा बनाम त्रिपुरा:

101/3 से आगे खेलते हुए ओडिशा की टीम 212 रन पर ऑलआउट हुई। वो पहली पारी के आधार पर त्रिपुरा पर 90 रन की बढ़त बना पाने में सफल रहे। कप्‍तान बिपलब समंत्रे ने 142 गेंद पर 89 रन की पारी खेली। दिन का खेल खत्‍म होने तक त्रिपुरा ने अपनी दूसरी पारी में 130/5 रन बना लिए हैं। पहली पारी में पिछड़ने के कारण त्रिपुरा के पास महज 40 रन की ही बढ़त है।

गोवा बनाम झारखंड:

अमित वर्मा 154(226) की डेढ़सो रन की पारी और सुमिरन अमोनकर के 281 गेंद पर 95 रन की मदद से गोवा ने पहली पारी में 364 रन बनाए। अमोनकर अपने शतक से महज पांच रन से चूक गए। झारखंड ने अपनी पहली पारी में दिन का खेल खत्‍म होने तक कप्‍तान नजिम सिद्दकी 71(69) की अर्धशतकीय पारी की मदद से 147/2 रन बना लिए हैं।

सेना बनाम जम्‍मू-कश्‍मीर:

सेना की टीम मैच में मजबूत स्थिति में है। जम्‍मू-कश्‍मीर को 95 रन पर ऑलआउट करने के बाद सेना की टीम ने पहली पारी में 252 रन बनाए। जम्‍मू कश्‍मीर के कप्‍तान परवेज रसूल ने आठ विकेट हॉल अपने नाम किया। जम्‍मू-कश्‍मीर ने अपनी दूसरी पारी में 115/6 रन बना लिए हैं। वो अब भी सेना के स्‍कोर से 42 रन पीछे हैं। परवेज रसूल 53 रन बनाकर मैदान पर नाबाद डटे हुए हैं।

उत्‍तर प्रदेश बनाम राजस्‍थान:

राजस्‍थान 221/5 से आगे खेलते हुए पहली पारी में 311 पर ऑलआउट हुआ। रॉबिन बिष्‍ट 96(195) रन से अपने शतक से चूक गए। अंकित राजपूत ने मैच के दूसरे दिन एक विकेट और निकालकर अपना पांच विकेट हॉल पूरा किया। उत्‍तर प्रदेश ने 147 रन पर ही अपने सात विकेट खो दिए हैं। टीम के लिए सर्वाधिक रन सुरेश रैना 33(57) ने बनाए। उत्‍तर प्रदेश अभी भी राजस्‍थान के स्‍कोर से 165 रन पीछे है। राजस्‍थान के अनिकेत चौधरी ने चार और टीमएम उल हक ने तीन विकेट लिए।

प्‍लेट ग्रुप

अरुणाचल प्रदेश बनाम उत्‍तराखंड:

मैच के पहले दिन 99 रन पर नाबाद लौटे उत्‍तराखंड के कार्तिक ने दूसरे दिन 208*(308) अपना दोहरा शतक पूरा किया। कप्‍तान रजत भाटिया 151*(142) ने डेढ़सो रन बनाए। उत्‍तराखंड ने 470/4 पर अपनी पारी घोषित की। अरुणाचल प्रदेश की टीम ने अपनी दूसरी पारी में 98/2 रन बना लिए हैं। पहली पारी में महज 105 रन पर ऑलआउट होने के कारण अरुणाचल प्रदेश अब भी उत्‍तराखंड के स्‍कोर से 267 रन पीछे हैं। उनपर पारी से हार का खतरा मंडरा रहा है।

बिहार बनाम सिक्किम:

बिहार को पहली पारी में महज 288 रन पर समेटने के बाद सिक्किम की टीम महज 81 रन पर ही ऑलआउट हो गई। नौवें नंबर पर खेलने आए अमोसी राय 19(46) ने सर्वाधिक स्‍कोर बनाया। बिहार के आशुतोष अमन ने पांच विकेट हॉल अपने नाम किया। दिन का खेल खत्‍म होने तक बिहार ने मोहम्‍मद रहमतुल्‍लाह 66(116) के अर्धशतक की मदद से 150/4 रन बना लिए हैं।

मणिपुर बनाम मेघालय:

82/1 से आगे खेलते हुए मैच के दूसरे दिन मेघालय ने 326/10 रन बनाकर पहली पारी के आधार पर 115 रन की बढ़त बना ली। पुनीत बिष्‍ट 92(88) आठ रन से अपने शतक से चूक गए। इसी तरह सलामी बल्‍लेबाज राज बिसवा ने भी 87 रन का अहम योगदान दिया। मणिपुर की टीम ने कप्‍तान यशपाल सिंह 69(91) के अर्धशतक की मदद से दूसरी पारी में 125/8 रन बना लिए हैं। उनके पास महज 10 रन की ही बढ़त है। मेघालय मैच में बेहद मजबूत स्थिति में है।

पुड्डुचेरी बनाम मिजोरम:

मैच के दूसरे दिन बारिश के चलते एक भी गेंद नहीं फेंकी जा सकी। पहले दिन के खेल के दौरान मिजोरम 91 रन पर ऑलआउट हो गई थी। जिसके जवाब में पुड्डुचेरी ने दिन का खेल खत्‍म होने तक 163/3 रन बना लिए थे।