Ravi Shastri’s contract doesn’t have extension clause: Says BCCI official
Ravi_Shastri @ PTI

रवि शास्त्री विश्व कप के बाद भी भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच के तौर पर जारी रहने के प्रबल दावेदार बने रहेंगे। लेकिन बीसीसीआई को कोच रखने की प्रक्रिया दोबारा शुरू करनी होगी क्योंकि इस पूर्व भारतीय ऑलराउंडर के अनुबंध में इसे बढ़ाने की शर्त नहीं है।

पढ़ें: ‘मैच हालात को गेंदबाजों की तुलना में बेहतर समझ रखते हैं एमएस धोनी’

अनिल कुंबले के मुख्य कोच बनने के बाद से ही बीसीसीआई ने इस अनुच्छेद को अनुबंध में शामिल नहीं किया है।

बीसीसीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने नाम नहीं बताने की शर्त पर कहा, ‘अनिल कुंबले के समय से ही कोचों और सहयोगी स्टाफ के अनुबंधों को बढ़ाने या इसके फिर से नवीकरण का अनुच्छेद नहीं है। इसलिए अगर भारतीय टीम शास्त्री की कोचिंग के अंतर्गत विश्व कप जीत जाती है तो भी उन्हें फिर से ताजा नियुक्ति प्रक्रिया से गुजरना होगा, भले ही उन्हें मौजूदा कोच के तौर पर पैनल में सीधे प्रवेश मिल जाए।’

पढ़ें: IPL से पहले KKR के लिए बुरी खबर, चोटिल एनरिच नोर्त्‍जे हुए बाहर

उन्होंने कहा, ‘शास्त्री, संजय बांगड़ (बल्लेबाजी कोच), भरत अरुण (गेंदबाजी कोच) और आर श्रीधर (क्षेत्ररक्षक कोच) के अनुबंध भारत के विश्व कप में अंतिम मैच के साथ ही समाप्त हो जाएंगे। वेस्टइंडीज के खिलाफ शुरुआती विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप के मैचों के लिए कुछ दिन का समय बचा है, हमें इसी दौरान प्रक्रिया पूरी करनी होगी। लेकिन सबकुछ विश्व कप के बाद ही होगा।’

अधिकारी ने यह भी संकेत दिया कि अगर टीम कम से कम सेमीफाइनल तक भी पहुंचती है तो शास्त्री की जगह किसी और को लाने की संभावना भी काफी कम होगी क्योंकि उनके मार्गदर्शन में भारत ने 71 साल में पहली बार ऑस्ट्रेलिया को उसकी सरजमीं पर टेस्ट सीरीज में हराया है और साथ ही दक्षिण अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में वनडे सीरीज जीती हैं।