Shreyas Iyer wants to forget his first stint with the Team India
Shreyas Iyer (File Photo) © AFP

बल्‍लेबाज श्रेयस अय्यर (Shreyas Iyer) ने अपने शानदार प्रदर्शन के दम पर साल 2017 में टीम इंडिया में डेब्‍यू किया था। हालांकि वो भारतीय टीम में अपनी जगह पक्‍की करने में सफल नहीं हो सके। मौजूदा सैय्यद मुश्‍ताक अली ट्रॉफी (Syed Mushtaq Ali Trophy) टूर्नामेंट में अबतक दो शतक जड़ चुके अय्यर रन बनाने वालों की सूची में टॉप पर हैं। अय्यर का कहना है कि भारतीय टीम में अपने खराब डेब्‍यू को वो भूल जाना चाहते हैं।

पढे़ें: ‘विस्फोटक बल्लेबाजों के दम पर वेस्टइंडीज के पास विश्व कप जीतने का मौका है’

स्‍पोर्ट्स स्‍टार से बातचीत के दौरान श्रेयस अय्यर ने कहा, “ये सब अब पुरानी बाते हैं। मैं उन्‍हें भूलकर अपने क्रिकेट और प्रदर्शन पर फोकस करना चाहता हूं।” शानदार प्रदर्शन के दम पर ही आईपीएल 2018 के दौरान दिल्‍ली फ्रेंचाइजी ने श्रेयस अय्यर को कप्‍तानी की कमान सौंपी थी। पिछले सीजन में गौतम गंभीर के आईपीएल के बीच में ही कप्‍तानी से हटने के बाद अय्यर को ये जिम्‍मेदारी दी गई थी।

पढे़ें: दूसरे टी20 मुकाबले के लिए टीम इंडिया में हो सकता है बड़ा बदलाव

अय्यर ने कहा, “आईपीएल टीम को लीड करने के अनुभव से मुझे बतौर खिलाड़ी अपने खेल में सुधार करने का मौका मिला। टीम को लीड करने से आप बतौर खिलाड़ी परिपक्‍व होते हो और टीम में अपनी जिम्‍मेदारी उठाने लगते हो। टीम में बाकी खिलाड़ी भी आपको एक अच्‍छे लीडर के तौर पर देखने लगते हैं और इसी रूप में आपका सम्‍मान भी करते हैं। बल्‍लेबाज के तौर पर मैंने खुद में काफी सुधार किया है। मुझे अपने मजबूत पक्ष और कमजोरियों का अहसास हुआ है। मैं खेल के हर पक्ष के बारे में सीखने का प्रयास करता हूं।”

दिल्‍ली की टीम अबतक आईपीएल के फाइनल में नहीं पहुंची है। इसपर श्रेयस अय्यर ने कहा, “पिछले सीजन के दूसरे हिस्‍से में हमने बिना रुके अच्‍छा क्रिकेट खेला। हमें पता था कि हमें सभी मैच जीतने होंगे। हमारी अप्रोच बदल गई थी। मैंने टीम के नेतृत्‍व की जिम्‍मेदारी उठाई थी। हमारी सोच केवल यही थी कि हमें आगे जाना है तो हर मैच जीतना होगा। अगर इसी सोच के साथ इस सीजन की शुरुआत से ही हम आईपीएल खेलेंगे तो इससे हमें प्‍लेऑफ में जगह बनाने में मदद मिलेगी।”