South Africa coach Ottis Gibson will not quit despite World Cup disaster
Ottis Gibson (Getty Images)

आईसीसी विश्व कप में दक्षिण अफ्रीका की टीम को शर्मनाक प्रदर्शन की वजह से पहले ही दौर से हारकर बाहर होना पड़ा। टीम के खराब प्रदर्शन के बावजूद कोच ओटिस गिब्सन पद छोड़ने नहीं जा रहे क्योंकि उनका मानना है कि उनकी टीम को तैयारी के लिये पर्याप्त समय नहीं मिला।

गिब्सन अगस्त 2017 में दक्षिण अफ्रीका के मुख्य कोच बने थे लेकिन उनकी टीम विश्व कप के सेमीफाइनल में नहीं पहुंच सकी। नौ मैचों में से तीन जीतकर वह अंकतालिका में सातवें स्थान पर रही। अपने कोचिंग कार्यकाल की सबसे बड़ी चुनौती के बारे में पूछने पर गिब्सन ने कहा ,‘‘समय टीम तैयार करने के लिए पूरा समय नहीं मिला। हमने आक्रामक और सकारात्मक खेल दिखाया लेकिन आपको समय भी चाहिए।’’

पढ़ें:- भारत और इंग्लैंड के बीच होगा आईसीसी विश्व कप का फाइनल : फाफ

विश्व कप में दक्षिण अफ्रीका का पहला मुकाबला मेजबान इंग्लैंड के साथ हुआ था जहां उसे हार का सामना करना पड़ा था। उसके बाद उसे बांग्लादेश की टीम के खिलाफ भी 21 रन से हार मिली। टूर्नामेंट के तीसरे मुकाबले में भारत ने प्रोटियाज टीम पर 6 विकेट से जीत हासिल की।

वेस्टइंडीज के खिलाफ बारिश की वजह से मैच पूरा नहीं खेला जा सका। इसके बाद उसने अफगानिस्तान के खिलाफ जीत हासिल कर वापसी के संकेत दिए थे लेकिन न्यूजीलैंड और पाकिस्तान से हारकर उसके सेमीफाइनल की उम्मीद खत्म हो गई। श्रीलंका और ऑस्ट्रेलिया पर जीत के साथ टीम ने टूर्नामेंट से विदाई ली।

पढ़ें:- ‘भारत के खिलाफ ‘अंडरडॉग’ के रूप में उतरने से खुश है न्यूजीलैंड’

कोच का कहना था ,‘‘मुझे अपने काम से प्यार है और मैं इसे जारी रखना चाहता हूं। मुझे सीएसए के जवाब का इंतजार है। मेरा करार सितंबर के मध्य तक है। देखते हैं।’’

गिब्सन ने कहा ,‘‘विश्व कप से पहले कुछ खिलाड़ी रिटायर हुए, कुछ चोटिल हुए और हाशिम अमला को कोई पारिवारिक परेशानी थी। हम रन नहीं बना सके लेकिन खिलाड़ियों को समय देना होगा।’’