Steve Smith is the best player in the world, says Ricky Ponting
पूर्व कप्तान रिकी पॉन्टिंग के साथ स्टीव स्मिथ © AFP

एजबेस्टन स्टेडियम में मौजूद इंग्लिश फैंस की हूटिंग के बीच ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज स्टीव स्मिथ ने अपने टेस्ट करियर का 24वां शतक जड़ा। हालांकि पहले एशेज टेस्ट में खेली 144 रनों की ये पारी स्मिथ के बाकी शतकों से अलग और खास थी। बॉल टैंपरिंग मामले में एक साल का बैन झेलने के बाद टेस्ट मैच में स्मिथ का ये पहला शतक था और इसका एशेज सीरीज में आना इस शतक को और खास बनाता है।

99 के स्कोर पर 4 विकेट खोने के बाद स्मिथ जिस तरह से ऑस्ट्रेलियाई पारी को संभाला और टीम को 284 रन के सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाया, उसकी हर कोई तारीफ कर रहा है। पूर्व कप्तान रिकी पॉन्टिंग ने भी स्मिथ के इस शतक की तारीफ की और उन्हें दुनिया का सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज बताया।

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया वेबसाइट को दिए बयान में पॉन्टिंग ने कहा, “वो दुनिया का सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज हैं और आमतौर पर सर्वेश्रेष्ठ खिलाड़ी किसी टीम के लीडरशिप ग्रुप में से ही होते हैं (विराट कोहली, जो रूट, केन विलियमसन)। हालांकि उसने नाम के आगे कप्तान नहीं लगा है, फिर भी वो ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट का नेतृत्व करने के लिए हर संभव कोशिश कर सकता है।”

ब्रायन लारा ने की भविष्यवाणी- इंग्लैंड जीतेगा एशेज

उन्होंने आगे कहा, “वो अपने खेल को ना सिर्फ ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों बल्कि दुनिया भर में सबसे बेहतर तरीके से समझता है। जो रूट इसका अच्छा उदाहरण है; वो एक अच्छा अंतर्राष्ट्रीय करियर बना रहा है लेकिन मुझे पूरा यकीन नहीं है वो अपने खेल को उतनी अच्छी तरह से जानता है जितना कि स्मिथी। इसी वजह से वो अपने करियर में ज्यादा शतक नहीं लगा पाया है।”

क्या चीज स्मिथ को बाकी खिलाड़ियों से अलग बनाती है? इस बारे में पॉन्टिंग ने कहा, “बहुत सारी चीजें वो बहुत अलग तरीके से करता है, जिस तरह से वो अभ्यास करता है और जिस तरह से वो खेलता है। लेकिन वो जो भी कर रहा है। वो इस समय बाकी खिलाड़ियों से बहुत अलग तरीके का क्रिकेट खेल रहा है।”

एक समय क्रिकेट के लिए प्यार खो दिया था: स्टीव स्मिथ

पूर्व कप्तान ने स्मिथ की इस पारी की तुलना 2017 एशेज सीरीज में ब्रिसबेन में जड़े उनके शतक से की। विश्व कप के दौरान टीम के मेंटोर रहे पॉन्टिंग ने कहा, “जो शतक उसने ब्रिसबेन में लगाया था उसने पूरी सीरीज की लय सेट कर दी थी और लग रहा है यहां भी उसने वहींक किया है, जब टीम को उसकी सबसे ज्यादा जरूरत थी। ऐसी स्थिति में खुद रहने की वजह से मुझे पता है कि जब आप दबाव में हो और टीम को आपको जरूरत हो तब आप जो पारी खेलते हैं उस पर आपको सबसे ज्यादा गर्व होता है।”

पॉन्टिंग ने आगे कहा, “अगर वो इसी तरह से खेलता रहा, तो उसे एक सर्वकालिक महान खिलाड़ी के रूप में याद किया जाएगा। वो हम पूर्व खिलाड़ियों को पीछे छोड़ रहा है और ये तय है।”