महेंद्र सिंह धोनी  © IANS
महेंद्र सिंह धोनी © IANS

महेंद्र सिंह धोनी की बेजोड़ कप्तानी और शानदार विकेटकीपिंग के साथ वरूण एरोन और राहुल शुक्ला के चार-चार विकेट के दम पर झारखंड ने विजय हजारे ट्राफी एकदिवसीय क्रिकेट टूर्नामेंट में कम स्कोर का सफलतापूर्वक बचाव करते हुए सौराष्ट्र को 42 रन से हराया। ईडन गार्डंस पर खेले गए इस मैच में झारखंड की टीम की ओर से पहले बल्लेबाजी करते हुए युवा बल्लेबाज इशान किशन ने 53 रनों की अर्धशतकीय पारी खेली लेकिन इसके बावजूद पूरी टीम केवल 27.3 ओवर में 125 रन पर ढेर हो गयी। वहीं धोनी 22 गेंदों पर 22 रन बनाकर दूसरे सफल बल्लेबाज रहे।

सौराष्ट्र के मध्यम गति के गेंदबाजों शौर्य शांडिल्य ने 47 रन देकर पांच विकेट और कुस्ताग पटेल ने 39 रन देकर चार विकेट लिए। दोनों ने झारखंड की पारी को जल्दी समेटने में अहम भूमिका निभायी। धोनी ने हालांकि अपनी टीम को हार नहीं मानने दी और सौराष्ट्र के लिये यह स्कोर ही पहाड़ जैसा बना दिया। सौराष्ट्र की टीम 25.1 ओवर में 83 रन पर ढेर हो गयी और झारखंड ने इस तरह से चार मैचों में अपनी तीसरी दर्ज की। इससे उसके 12 अंक हो गये हैं। सौराष्ट्र की यह लगातार चौथी हार है। धोनी ने न सिर्फ कप्तानी के अपने अनुभव का इस्तेमाल किया बल्कि शानदार विकेटकीपिंग भी की और चार कैच लपके। [ये भी पढ़ें: एडम गिलक्रिस्ट ने महेंद्र सिंह धोनी की जमकर तारीफ की]

इस पूर्व भारतीय कप्तान ने अपने तेज गेंदबाजों का बखूबी इस्तेमाल किया। एरोन ने 20 रन देकर चार जबकि राहुल शुक्ला ने 32 रन देकर चार विकेट लिये। बायें हाथ के तेज गेंदबाज जसकरण सिंह भी 29 रन के एवज में दो विकेट लेकर अपने कप्तान की उम्मीदों पर खरे उतरे। झारखंड की तरह सौराष्ट्र के भी तीन बल्लेबाज दोहरे अंक तक पहुंचे जिनमें शेल्डन जैकसन ने सर्वाधिक 20 रन बनाये।