Vinod Rai: Hardik Pandya, KL Rahul’s case has been referred to Ombudsman
Hardik-KL-Rahul @ AFP

भारतीय क्रिकेट का संचालन कर रही प्रशासकों की समिति (सीओए) ने केएल राहुल और हार्दिक पांड्या की आपत्तिजनक टिप्पणियों से जुड़ा मामला नवनियुक्त लोकपाल डी के जैन को सौंप दिया है जो अब इन क्रिकेटरों के भाग्य का फैसला करेंगे।

पढ़ें: बीसीसीआई ने पाकिस्‍तान क्रिकेट बोर्ड का निमंत्रण ठुकराया

राहुल और पांड्या को एक लोकप्रिय टीवी कार्यक्रम के दौरान महिलाओं के बारे में आपत्तिजनक टिप्पणी करने पर निलंबित किया गया था लेकिन जांच लंबित रहने तक उनका निलंबन हटा दिया गया था। जांच उच्चतम न्यायालय से नियुक्त लोकपाल करेंगे।

पढ़ें: धोनी के समर्थन में उतरे गांगुली, बोले- एमएस को वर्ल्‍ड कप के बाद भी टीम में बने रहना चाहिए 

सीओए प्रमुख विनोद राय से पूछा गया कि क्या राहुल और पांड्या को कड़ी सजा मिलेगी, उन्होंने कहा, ‘हमने राहुल और पांड्या से जुड़ा मसला लोकपाल को सौंप दिया है। उन्होंने हाल में (इस महीने के शुरू में) पदभार संभाला और अभी हमने उन्हें केवल यही मामला सौंपा है। इस बारे में फैसला करना अब पूरी तरह से उनके अधिकार क्षेत्र में है।’

राहुल और पांड्या की टिप्पणियों से विवाद पैदा हो गया था और उन्हें ऑस्ट्रेलिया दौरे के बीच से स्वदेश भेज दिया गया था। निलंबन हटने के बाद पांड्या न्यूजीलैंड में टीम से जुड़ गए थे।

राहुल अभी ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेल रही वनडे टीम का हिस्सा हैं जबकि पांड्या पीठ की चोट से उबर रहे हैं।