भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) और मोहम्मद शमी (Mohammed Shami) की सराहना करते हुए कहा है कि वो चाहते हैं कि इन दोनों खिलाड़ियों को पता चले कि उन्हें इन पर गर्व है।

बुमराह और शमी ने इंग्लैंड के खिलाफ दूसरे टेस्ट मैच में नौंवें विकेट के लिए 89 रनों की साझेदारी की थी जिसके दम पर भारत ने इंग्लैंड को 272 रनों का लक्ष्य दिया था। हालांकि, इंग्लैंड की टीम ये लक्ष्य हासिल नहीं कर सकी थी और उसे 151 रनों से हार का सामना करना पड़ा था।

कोहली ने मैच के बाद कहा, “बुमराह और शमी ने जो किया उसके लिए उनकी सराहना करना चाहता हूं। ऐसे हालात में उन गेंदबाजों के लिए खेलना चुनौतीपूर्ण होता है जो ज्यादा बल्लेबाजी नहीं करते हैं। इन्होंने उस वक्त योगदान दिया जब टीम को इसकी सबसे ज्यादा जरूरत थी।”

उन्होंने कहा, “जब हम पिछले डेढ़ साल से टेस्ट क्रिकेट में सर्वाधिक सफल थे तो हमारे निचले क्रम ने काफी योगदान दिया था। बल्लेबाजी कोच ने खिलाड़ियों के साथ काफी मेहनत की है। सबसे जरूरी तो यह है कि जब वे बल्लेबाजी के लिए जाते हैं तो इन्हें भरोसा होता है कि वे टीम के लिए रन बना सकते हैं। मुझे लगता है कि यह भरोसा पहले नहीं था।”

ये पूछे जाने पर कि लॉर्ड्स में मिली जीत 2014 के बराबर है, इस पर कप्तान ने कहा, “पिछली बार जब हम यहां जीते तो मैं इस मैच का हिस्सा था और महेंद्र सिंह धोनी के नेतृत्व में एक खिलाड़ी के रूप में खेला था। वो काफी खास था और इशांत शर्मा ने काफी शानदार गेंदबाजी की थी।लेकिन ये जीत हमें 60 ओवर में मिली। ये काफी खास है और जब मोहम्मद सिराज जैसा कोई गेंदबाज जो पहली बार लॉर्ड्स में खेल रहा हो और जिस तरह उन्होंने गेंदबाजी की वो बेहतरीन थी।”

कप्तान ने स्पष्ट कहा कि भारतीय टीम बाकी तीन टेस्ट मैच में भी बखूबी खेलेगी। कोहली ने कहा, “अभी तीन और मैच बाकी है। इस मैच के बाद हम आराम से नहीं बैठेंगे और इसे आसान नहीं समझेंगे। हम अगले मुकाबलों में और भी तेजी के साथ खेलने उतरेंगे।”