World Cup 2019 Final: After tie in super over England win on the basis of boundaries
ENG vs NZ @ cricket world cup/Twitter

लॉर्ड्स क्रिकेट ग्राउंड पर खेले गए विश्‍व कप 2019 के फाइनल मुकाबले में क्रिकेट के इतिहास में वो हुआ जो आज तक कभी नहीं हुआ था। सुपर ओवर के रोमांच के बाद मैच एक बार फिर टाई हो गया। जिसके बाद इंग्‍लैंड को मैच में ज्‍यादा चौके लगाने के आधार पर विजेता घोषित कर दिया गया। बेन स्‍टोक्‍स ने 98 गेंद पर 84 रन बनाए जिसके लिए उन्‍हें मैन ऑफ द मैच दिया गया। विश्‍व कप में 578 रन बनाने के लिए न्‍यूजीलैंड के कप्‍तान केन विलियमसन को प्‍लेयर ऑफ द टूर्नामेंट चुना गया।

सुपर ओवर का रोमांच

सुपर ओवर में इंग्‍लैंड की टीम ने पहले बल्‍लेबाजी करते हुए 15 रन बनाए। इंग्‍लैंड की तरफ से बेन स्‍टोक्‍स ने आठ और जोस बटलर ने सात रन बनाए। सुपर ओवर के लक्ष्‍य का पीछा करने के दौरान मार्टिन गुप्टिल ने एक रन बनाया, जबकि जेेेेम्‍स सनीशम ने 13 रन निकले। एक रन वाइड का मिला। इस तरह एक बार फिर मैच टाई हुआ।

आखिरी ओवर का रोमांच

ट्रेंट बोल्‍ट द्वारा डाले गए आखिरी ओवर में इंग्‍लैंड को जीत के लिए 15 रन की दरकार थी। क्रीज पर स्‍टोक्‍स के साथ आदिल राशिद थे। स्‍टोक्‍स ने पहली दो गेंद पर कोई रन नहीं बनाया। उन्‍होंने एक रन लेने से मना कर दिया। तीसरी गेंद पर स्टोक्‍स ने मिडविकेट की दिशा में शानदार छक्‍का लगाया। अब इंग्‍लैंड को जीत के लिए तीन गेंद पर नौ रन की दरकार थी।

पहली पारी की रिपोर्ट पढ़ने के लिए क्लिक करें

चौथी गेंद पर मैच में वो हुआ जिसकी न्‍यूजीलैंड ने कभी उम्‍मीद नहीं की होगी। फुल टॉस गेंद पर स्‍टोक्‍स ने मिडविकेट की दिशा में शॉट लगाया। दूसरा रन लेकर वापस स्‍ट्राइक पर पहुंचने के लिए उन्‍होंने डाइव लगाई। गेंद स्‍टोक्‍स के बल्‍ले से लगते हुए सीधे पीछे चौके के लिए चली गई। इस तरह चौथी गेंद पर कुल छह रन आए। अब इंग्‍लैंड को जीत के लिए दो गेंद पर तीन रन की दरकार रह गई थी। स्‍ट्राइक पर थे स्‍टोक्‍स, लेकिन इस गेंद पर दो रन चुराने के प्रयास में राशिद रन आउट हो गए। आखिरी गेंद पर इंग्‍लैंड को दो रन चाहिए था, लेकिन स्‍टोक्‍स केवल एक रन ही बना पाए। जिसके कारण मुकाबला सुपर ओवर में चला गया।

इंग्‍लैंड की खराब शुरुआत

242 रन के लक्ष्‍य का पीछा करने के दौरान इंग्‍लैंड ने महज 28 रन पर अपने स्‍टार बल्‍लेबाज जेसन रॉय 17(20) का विकेट गंवा दिया था। मैट हेनरी की गेंद पर वो विकेट के पीछे टॉम लेथम के हाथों कैच आउट हुए। नए बल्‍लेबाज जो रूट भी टीम के लिए खास योगदान नहीं दे पाए। वो 30 गेंद खेलने के बाद महज सात रन बनाकर आउट हुए। कॉलिन डी ग्रैंडहोम ने उन्‍हें विकेटकीपर लेथम के हाथों ही कैच आउट करवाया।

टीम ने 86 रन तक पहुंचते-पहुंचते अपने चार बल्‍लेबाजों के विकेट गंवा दिए थे। कप्‍तान इयोन मोर्गन नौ रन बनाकर आउट हुए तो दूसरे सलामी बल्‍लेबाज जोनी बेयरस्‍टो ने 55 गेंद पर 36 रन का योगदान दिया। जेम्‍स नीशम की गेंद पर लोकी फर्ग्‍यूसन ने शानदार कैच पकड़कर मोर्गन को आउट किया। इससे पहले 20वें ओवर में बेयरस्‍टो फर्ग्‍यूसन की गेंद पर बोल्‍ड हो गए।

स्‍टोक्‍स-बटलर ने संभाली पारी

चार विकेट गिरने के बाद क्रीज पर आए नए बल्‍लेबाज बेन स्‍टोक्‍स और जोस बटलर ने लड़खड़ती पारी को संभालने की जिम्‍मेदारी उठाई। पांचवें विकेट के लिए दोनों ने साथ मिलकर 110 रन जोड़े। एक समय ऐसा लगा कि अब इंग्‍लैंड इस मैच को आसानी से जीत लेगा, लेकिन मैच का असली रोमांच अभी बाकी था। 45वें ओवर में फर्ग्‍यूसन ने बटलर का विकेट निकाला। स्‍लो बॉल पर बटलर ने कवर्स की दिशा में हवाई शॉट लगाया। मैच में 12वें खिलाड़ी की भूमिका निभा रहे टिम साउदी ने हवाई छलांग लगाकर कैच पकड़ा और बटलर को पवेलियन का रास्‍ता दिखाया। नए बल्‍लेबाज क्रिस वोक्‍स 2(4) भी 47वें ओवर में सस्‍ते में आउट होकर चलते बने। हवाई शॉट लगाने के प्रयास में वो विकेटकीपर टॉम लेथम को आसान कैच दे बैठे।

बेन स्‍टोक्‍स ने एक छोर पर मोर्चा संभाल कर रखा। वो लगातार शॉट लगाकर रनों और गेंद के बीच के अंतर को कम करते रहे। आखिरी दो ओवर में इंग्‍लैंड को जीत के लिए 23 रन की दरदकार थी।। मैदान पर बेन स्‍टोक्‍स के साथ लियाम प्‍लंकेट मौजूद थे। जेम्‍स नीशम ने इस ओवर में पहले तीसरी गेंद पर प्‍लंकेट को ट्रेंट बोल्‍ट के हाथों आउट करवाया। फिर आखिरी गेंद पर जोफ्रा आर्चर को बोल्‍ड कर दिया। चौथी गेंद पर स्‍टोक्‍स ने शानदार छक्‍का लगाया। लांग ऑन पर खड़े ट्रेंट बोल्‍ट बाउंड्री पर कैच पकड़ने में कामयाब रहे, लेकिन उनका पैर बाउंड्री को छू चुका था। अंपायर ने इसे छक्‍का करार दिया।