IPL 2019: CSK VS SRH, Shane watson match winning konck and other talking points
Shane watson, manish pandey, suresh raina

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 12वें सीजन के 41वें मैच में मौजूदा चैंपियन चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स ने सनराइजर्स हैदराबाद को 6 विकेट से हराकर प्‍लेऑफ में अपनी जगह लगभग पक्‍की कर ली।

पढ़ें: हरभजन सिंह बोले- कुछ मैच बाद वापसी कर अच्‍छा लग रहा है

चेन्‍नई की इस जीत के नायक रहे ऑस्‍ट्रेलिया के अनुभवी ऑलराउंडर शेन वॉटसन। वॉटसन ने बैंगलुरू के एमए चिदंबरम स्‍टेडियम में मंगलवार को खेले गए मुकाबले में धुआंधारी बल्‍लेबाजी कर अपनी टीम को धमाकेदार जीत दिलाने के साथ-साथ चेन्‍नई को आठ टीमों के प्‍वाइंट्स टेबल में फिर से शीर्ष पर पहुंचा दिया। वॉटसन के अलावा इस मैच में कई और शानदार प्रदर्शन देखने को मिले। डालते हैं एक नजर:

हरभजन ने बेयरस्‍टो को अंतिम मुकाबले में शून्‍य पर भेजा पवेलियन

इंग्लैंड के विकेटकीपर बल्लेबाज जॉनी बेयरस्टो ने मौजूदा सीजन में हैदराबाद की टीम की तरफ से कई धमाकेदार पारी खेली। बेयरस्‍टो ने इस सीजन साथी ओपनर डेविड वॉर्नर के साथ कई शानदार साझेदारी कर टीम की जीत में अहम भूमिका निभाई।

मंगलवार रात बेयरस्‍टो चेन्‍नई के खिलाफ आईपीएल 2019 में अपना अंतिम मुकाबला खेलने उतरे थे। अनुभवी ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह ने बेयरस्‍टो को फेयरवेल मैच को यादगार बनाने से रोक दिया। विश्व कप के लिए इंग्लैंड की टीम से जुड़ने स्वदेश लौट रहे बेयरस्टो सीजन के अपने अंतिम मैच में बिना खाता खोले आउट हुए। बेयरस्टो दो गेंद का ही सामना कर पाए।

हालांकि बेयरस्‍टो को अपने प्रदर्शन पर गर्व होगा क्‍योंकि उन्‍होंने इस लीग की 10 पारियों में 445 रन बनाए हैं। इस दौरान उनका औसत 55.62 रहा है।

मनीष पांडे ने मौके को भुनाया

मंगलवार को खेले गए हैदराबाद के खिलाफ मुकाबले से पहले मनीष पांडे ने मौजूदा सीजन में 5 पारियों में कुल 54 रन ही बनाए थे। चेन्‍नई के खिलाफ मनीष को बल्‍लेबाजी क्रम में उपर भेजा गया और उन्‍होंने इस मौके को दोनों हाथों से लपका।

तीसरे नंबर पर बल्‍लेबाजी को उतरे मनीष ने 49 गेंदों पर नाबाद 83 रन की पारी खेली। इस दौरान उन्‍होंने 7 चौके और तीन छक्‍के लगाए। मनीष का सही समय पर फॉर्म में लौटना हैदराबाद के लिए अच्‍छा है।

पढ़ें:  ‘यह 3 साल में राशिद खान के लिए संभवत: पहला ऑफ डे था’

हैदराबाद की टीम अब जॉनी बेयरस्‍टो और संभवत: डेविड वॉर्नर के बगैर अगले मुकाबलों में उतरेगी। ये दोनों खिलाड़ी आगामी विश्‍वकप के मद्देनजर अपनी-अपनी टीमों से जुड़ने के लिए स्‍वदेश लौट जाएंगे।

पांडे उस समय क्रीज पर आए जब उनकी टीम महज 5 रन पर एक विकेट गंवा चुकी थी। हरभजन ने बेयरस्‍टो को शून्‍य पर आउट कर हैदराबाद को तगड़ा झटका दिया।
इसके बाद पांडे ने वॉर्नर के साथ मिलकर पारी को संवारा और दोनों ने दूसरे विकेट पर 115 रन की साझेदारी निभाई।

वॉर्नर के आउट होने के बाद हैदराबाद ने लय खो दी

मनीष पांडे ने हैदराबाद को शानदार शुरुआत दिलाई। वॉर्नर भी क्रीज पर जम चुके थे। उन्‍होंने 39 गेंदों पर अपना अर्धशतक पूरा किया। वॉर्नर के आईपीएल करियर का ये 43वां अर्धशतक था।

मनीष पांडे ने 25 गेंदों पर पचास रन पूरे किए। दोनों ने 13.2 ओवर में टीम के स्‍कोर को 2 विकेट पर 118 रन तक पहुंचाया। वॉर्नर के आउट होने के बाद आखिर के पांच ओवर में हैदराबाद ने केवल 41 रन ही जुटाए।

रैना ने संदीप के एक ओवर में 22 रन बटोरेे 

लक्ष्‍य का पीछा करते हुए सीएसके ने शुरुआती 10 गेंदों पर कोई रन नहीं बनाए। सीएसके ने 2.3 ओवर में ओपनर फाफ डु प्‍लेसिस का विकेट गंवा दिया। उस समय चेन्‍नई का कुल स्‍कोर तीन रन था। चार ओवर के बाद चेन्‍नई ने 1 विकेट पर 16 जबकि पांच ओवर में 1 विकेट पर 27 रन बनाए थे।

इससे साफ था कि चेन्‍नई के बल्‍लेबाज रन बनाने के लिए संघर्ष कर रहे थे। तीसरे नंबर पर सुरेश रैना बल्‍लबाजी के लिए उतरे। रैना पर इसका असर नहीं दिखाई दिया। उन्‍होंने संदीप शर्मा की गेंद पर चौके के साथ अपना खाता खोला।

रैना ने कुछ अच्‍छे शॉट लगाए। उन्‍होंने छठे ओवर में संदीप शर्मा पर कुल 22 रन बटोरे जिसमें चार चौके और एक छक्‍का शामिल था। सीएसके का स्‍कोर छह ओवर बाद 1 विकेट पर 49 रन था।

वॉटसन ने खुद को साबित किया

इस मुकाबले से पहले शेन वॉटसन के उपर सवाल खड़े किए जा रहे थे क्‍योंकि मौजूदा सीजन में उनका बल्‍ला अब तक शांत था। बतौर ओपनर वॉटसन ने इस सीजन 10 पारियों में 147 रन ही जुटाए थे।

176 रन के लक्ष्‍य का पीछा करने उतरी सीएसके की ओर से ओपनर वॉटसन ने भुवनेश्‍वर कुमार का पहला ओवर मेडन खेला। यह रैना का धन्‍यवाद करना होगा जिन्‍होंने पावरप्‍ले में टीम को संतुलन प्रदान की।

वॉटसन की शुरुआत भी धीमी रही। उन्‍होंने पाचवें ओवर में खलील अहमद की गेंदों पर चौका और छक्‍का लगाया। वॉटसन ने पिछले वर्ष फाइनल में हैदराबाद के खिलाफ ही शतकीय पारी खेली थी। उन्‍होंने पहले 31 गेंदों पर 37 रन बनाए थे। उस समय 11वां ओवर खत्‍म हो चुका था। इसके बाद वॉटसन ने आक्रामक रुख अख्तियार किया। उन्‍होंने सदीप शर्मा के ओवर में दो चौके और एक छक्‍का लगाया और मौजूदा सीजन में अपना पहला अर्धशतक पूरा किया।

इसके बाद वॉटसन ने युवा लेग स्पिनर राशिद खान को अपना निशाना बनाया। उन्‍होंने राशिद के ओवर में लगातार गेंदों पर चौका और छक्‍का लगाया। वॉटसन ने 53 गेंदों पर नौ चौकों और छह छक्‍कों की मदद से 96 रन की यादगार पारी खेली।