शाहिद अफरीदी Photo: Getty Images
शाहिद अफरीदी Photo: Getty Images

नेटवेस्ट टी20 ब्लास्ट के पहले क्वार्टरफाइनल के दौरान शाहिद अफरीदी ने डर्बीशायर के खिलाफ महज 42 गेंदों में शतक लगा दिया। हैंपशायर की ओर से ओपनिंग करने उतरे अफरीदी ने शुरू से ही डर्बीशायर के गेंदबाजी आक्रमण की बखिया उधेड़ी। इस दौरान अफरीदी ने 10 चौके और 7 छक्के लगाए। अफरीदी ने मैच के पहले ओवर में ही 16 रन बटोरे।

उन्होंने इस दौरान वायने मैडसेन के ओवर में चार चौके लगाए। इसके बाद उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा। अफरीदी ने अपने 50 रन महज 20 गेंदों में पूरे किए। 65 रनों पर जब वह बल्लेबाजी कर रहे थे तब उन्हें जीवनदान मिला, उनका कैच इस दौरान इमरान ताहिर ने छोड़ दिया। अपनी शतकीय पारी के दौरान अफरीदी ने कुछ दर्शनीय स्ट्रोक खेले और जता दिया कि आज भी उनमें दमखम बरकरार है। 37 साल के अफरीदी ने अपना शतक बेहतरीन अंदाज में पूरा किया और इस दौरान इमरान ताहिर की गेंद को कट करते हुए थर्डमेन बाउंड्री लाइन के बाहर पहुंचाया।

 

 

  दूसरे वनडे से पहले विराट कोहली ने ‘हाथियों’ के साथ गुजारा वक्त

मैट हेनरी ने अगले ओवर में अफरीदी को आउट किया लेकिन तब तक वह विपक्षी गेंदबाजों की बखिया उधेड़ चुके थे। उनकी ताबड़तोड़ बल्लेबाजी की बदौलत हैंपशायर ने 20 ओवरों में 249/8 का स्कोर खड़ा किया। यह टी20 में उनका सर्वोच्च स्कोर है। अफरीदी के अलावा हैंपशायर के कप्तान जेम्स विंस ने 36 गेंदों में 55 रन बनाए। इस दौरान अमूमन सभी डर्बीशायर गेंदबाजों को मार पड़ी। उनमें सबसे कम खर्चीले इमरान ताहिर साबित हुए जिन्होंने 4 ओवरों में 42 रन दिए। अफरीदी एक समय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के सबसे खतरनाक बल्लेबाज माने जाया करते थे। उनके नाम अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे ज्यादा 351 छक्के लगाने का रिकॉर्ड दर्ज है जो हाल फिलहाल में टूटता नजर नहीं आता। वहीं अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वह 37 गेंदों में शतक भी लगा चुके हैं।