Ex pacer Manoj Prabhakar applies for Indian women Team’s coach post
Manoj Prabhakar (File Photo) @ AFP

भारतीय टीम के पूर्व तेज गेंदबाज मनोज प्रभाकर ने महिला क्रिकेट टीम के कोच पद के लिए आवेदन किया है। अगर प्रभाकर का नाम चुना गया तो कपिल देव की अगुवाई वाला पैनल उनका कोच पद के लिए इंटरव्‍यू लेगा। मनोज प्रभाकर का नाम साल 2000 में मैच फिक्सिंग स्‍कैंडल के दौरान काफी चर्चा में रहा था। उस समय कपिल देव से उनके कड़वे रिश्‍तों के बारे में क्रिकेट सर्कल में हर कोई जानता है।

आईसीसी महिला वर्ल्‍ड टी-20 के बाद रमेश पोवार का महिला टीम के कोच पद का अनुबंध पूरा हो गया था। जिसके बाद बीसीसीआई ने कोच पद के लिए नया विज्ञापन जारी किया। मनोज प्रभाकर के अलावा साउथ अफ्रीका के बल्‍लेबाज हर्शल गिब्स ने भी कोच पद के लिए आवेदन किया है।

पीटीआई से बातचीत के दौरान प्रभाकर ने कहा, “हां, मैंने महिला टीम के मुख्‍य कोच पद के लिए आवेदन किया  है। किसी भी रूप में देश की राष्‍ट्रीय क्रिकेट टीम के लिए अपनी सेवाएं देना मेरे लिए गर्व की बात है।”

पढ़ें: इयान हीली बोले- 2-3 सालों में एलेक्‍स कैरी टेस्‍ट क्रिकेट में टिम पेन की जगह ले लेगा

मनोज प्रभाकर कपिल देव की अगुवाई वाली टीम का हिस्‍सा रह चुके हैं। महिला टीम के कोच का चुनाव करने वाले पैनल में कपिल देव के अलावा अंशुमन गायकवाड़ और शांति रंगास्वामी भी हैं।

कपिल देव द्वारा पैनल के अगुवाई करने के सवाल पर प्रभाकर ने कहा, “आपने मुझसे पूछा कि मैंने इस पद के लिए आवेदन किया है या नहीं। इसपर मैंने अपना जवाब दिया है। मैंने आवेदन किया है क्‍योंकि मुझे लगता है कि क्रिकेट को लेकर अपने ज्ञान की मदद से मैं योगदान दे सकता हूं। महिला टीम में काफी क्षमताएं है। मुझे लगता है कि मुझमें मिताली राज, हरमनप्रीत कौर और स्‍मृति मंधाना के साथ टीम को आगे ले जाने की क्षमता है। कपिल देव के साथ विवाद का इससे कोई लेना देना नहीं है।”

पढ़ें: इशांत की नो बॉल पकड़ने से चूके अंपायर, नाराज पोंटिंग ने की नियम में बदलाव की मांग

प्रभाकर और गिब्‍स दोनों का ही नाम मैच फिक्सिंग मामले में सामने आया था। बीसीसीआई का इसपर कहना है कि गिब्‍स साल 2008 में आईपीएल में डेक्कन चार्जर्स की तरफ से खेल चुके हैं जबकि प्रभाकर रणजी ट्रॉफी में दिल्‍ली, यूपी, राजस्‍थान के कोच का पद संभाल चुके हैं। ऐसे में उनका चयन बड़ा मसला नहीं होगा।